धनबाद में दर्दनाक हादसा, दामोदर नदी में डूबने से दो लड़कों की गई जान

धनबाद में दर्दनाक हादसा, दामोदर नदी में डूबने से दो लड़कों की गई जान

DHANBAD : जिले में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है. स्नान करने के लिए छोटा भाई दामोदर नदी में उतरा. उसे तेज धार में बहते देख बड़े ने बचाने के लिए छलांग लगाई. इसके बाद दोनों भाई नदी की तेज धार में बहने लगे. यह देख मां-बाप भी अपने को रोक नहीं पाए. बेटों को बचाने के लिए नदी में कूद पड़े. अब चारों नदी की धार में फंस चुके थे. नदी के किनारे बैठी दो बहनों ने शोर मचाया. इसके बाद आसपास के लोग नदी में उतरे.  मां-बाप को तो बचा लिया गया लेकिन दोनों बेटों की जान चली गई. दिल दहला देने वाली यह घटना मंगलवार सुबह धनबाद और बोकारो जिले की सीमा पर स्थित दामोदर नदी के तेलमच्चो घाट पर घटी.  

मिली जानकारी के अनुसार भटमुरना निवासी बीसीसीएल कर्मी मनोज पाठक नवरात्र में कलश बैठाने से पहले मंगलवार को तेलमोचो स्थित दामोदर नदी मंदिर घाट में नहाने के लिए आए थे. उनके साथ पत्नी, बेटा रोशन पाठक, चंदन पाठक, बेटी खुशबू कुमारी और मधु कुमारी थे. इसी क्रम में पहले मनोज पाठक का छोटा पुत्र चंदन नहाने के लिए उतरा तो नदी की तेज धार में बहने लगा. उसे बहता देख उसका बड़ा भाई रोशन पाठक भी पानी में उसे बचाने के लिए कूद गया. लेकिन वह भी तैरना नहीं जानता था. जिसके कारण वह भी पानी में बहने लगा. यह देख पिता मनोज पाठक एवं मां भी अपने बच्चों को बचाने के लिए पानी में कूद गए. वह भी तैरने नहीं जानते थे. सभी नदी की धार में फंस गए.  


दो भाइयों और मां-बाप को डूबते देख नदी किनारे खड़ी बहनें चिल्लाने लगी. चारों को पानी में बहता दूर से ही स्थानीय लोगों ने देखा. उन्हें समझते देर नहीं लगा कि वह सब तैरने नहीं जानते हैं, बल्कि सभी डूबकर बह रहे हैं. लोग दौड़ते हुए वहां पहुंचे और उन्हें बचाने के लिए पानी में कूद पड़े. पानी में कूदने वालों में स्थानीय ग्रामीण एवं ग्राम रक्षा दल के लोग शामिल थे. ग्राम रक्षा दल के सरयू नापित, राजेश महतो, संतोष महतो एवं जटल महतो ने पानी में बहते हुए चंदन पाठक को काफी मशक्कत के बाद उठाया और गंभीर स्थिति में उसे इलाज के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया. इससे पूर्व एक हाइवा चालक ने मनोज पाठक एवं उसकी पत्नी को पानी से बाहर निकाला. घटना आग की तरह पूरी इलाके में फैल गई और भारी संख्या में स्थानीय लोगों का जमावड़ा हो गया. स्थानीय ग्रामीण व ग्राम रक्षा दल के लोग काफी खोजबीन कर थक चुके थे. लेकिन रोशन का शव नहीं मिल पा रहा था. मृतक दोनों बच्चों में से बड़ा रोशन कुमार पाठक सरस्वती विद्या मन्दिर श्यामडीह से बारहवीं पास किया था. जबकि छोटा चंदन कुमार वहीं के वर्ग छठा का विधार्थी था. उनके पिता बीसीसीएल ब्लॉक 4 में इलेक्ट्रीशियन के पद पर कार्यरत है. 

सूचना पाकर बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो भी घटनास्थल पर पहुंचे और स्थानीय लोगों से पुनः एक बार खोजबीन करने को कहा. उनके कहने पर चार लोग पानी में उतर कर खोजबीन करने लगे. थोड़ी ही देर में एक व्यक्ति को रोशन का शव पानी के अंदर मिल गया. उसे ऊपर उठा कर तुरंत पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया गया. दूसरी और नदी से उठाए गए छोटा भाई चंदन पाठक ने भी पीएमसीएच में अपना दम तोड़ दिया. विधायक ढुल्लू महतो ने कहा कि आए दिन तेलमोचो ब्रिज व आसपास के इलाके में नदी में डूबने की घटना होती ही रहती है. इसके बावजूद सरकार व जिला प्रशासन की ओर से जिला में कोई गोताखोर टीम की व्यवस्था नहीं है. उन्होंने कहा कि तेलमोचो ब्रिज के समीप मंदिर रहने के कारण बाहर के इलाके से भी लोग पूजा-पाठ करने व नहाने आते हैं. उन्होंने सरकार व जिला प्रशासन से गोताखोर टीम की व्यवस्था करने की मांग की है. 

धनबाद से अजय उपाध्याय की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News