बाढ़ के कारण गांवों का संपर्क टूटा तो ग्रामीणों ने चंदा कर बनाया चचरी पुल, नेता या प्रशासन का नही मिला सहयोग

बाढ़ के कारण गांवों का संपर्क टूटा तो ग्रामीणों ने चंदा कर बनाया चचरी पुल,  नेता या प्रशासन का नही मिला सहयोग

KISHANGANJ  :-  बाढ़ के पानी से गांव में संपर्क भंग होने के बाद सरकार के उदासीन रवैये से नाराज ग्रामीणों ने खुद एक बड़ा फैसला किया  और आवाजाही के लिए खुद से चंदा करके बांस का चचरी पुल तैयार कर लिया। लोगों ने बताया बाढ़ के कारण परेशानी बढ़ गई थी। 

मामला दिघलबैंक प्रखंड क्षेत्र धनतोला पंचायत का है जहां नदी में बाढ़ के कारण आनेजाने का रास्ते पूरी तरह से बंद हो गया। इसे ठीक करने के लिए स्थानीय नेताओं की तरफ से भी किसी प्रकार का सहयोग नहीं मिला। जिसके बाद लोगो ने मजबूरी में खुद ही आवाजाही के लिए व्यवस्था करने का निर्णय लिया और गांव वालों ने चंदा करके बांस की लगभग 50 मीटर लंबा चचरी पुल तैयार कर लिया। अब यह चचरी पुल ही लोगों के लिए एक बहुत बड़ा सहारा बन गया है। 

पूरे जिले में बाढ़ जैसी स्थिति

बीते कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के वजह से टेढ़ागाछ बहादुरगंज दिघलबैंक प्रखंड  क्षेत्र के नदियों का जल स्तर बढ़ने लगा है। कोल कनकई गोरिया डॉक आदि नदियों का पानी उफ़ान पर है। इतनी ही नहीं नदियों का पानी गांव तक पहुंच चुका है। आस पड़ोस के निचला इलाके में पानी भर चुका है। निचले  इलाके की सड़कों में पानी भर गया है। जिससे लोगों का आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया  है। कई गांवों का एक दूसरे से पूरी तरह संपर्क टूट गया है।


Find Us on Facebook

Trending News