विद्या की देवी की प्रतिमा विसर्जन के दौरान सैदपुर हॉस्टल के छात्रों ने जमकर की फायरिंग, गोली लगने से एक युवक ने गंवाई जान

विद्या की देवी की प्रतिमा विसर्जन के दौरान सैदपुर हॉस्टल के छात्रों ने जमकर की फायरिंग, गोली लगने से एक युवक ने गंवाई जान

PATNA : पटना में मां सरस्वती की प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस  व्यवस्था पूरी तरह से नाकाम साबित हुई। पटना पुलिस से लेकर पुलिस मुख्यालय तक के अधिकारियों ने सरस्वती पूजा के बाद प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर जो दावे किए थे, वो राजधानी में ही ध्वस्त हो गए। पटना में ही विसर्जन जुलूस के दौरान जमकर हवाई फायरिंग हुई है। एक जगह पर जुलूस में शामिल धीरज की गोल लगने से जान चली गई। 

दरअसल, सैदपुर हॉस्टल में रहने वाले छात्र नाला रोड, बाकरगंज गांधी मैदान होते हुए दीघा घाट पर प्रतिमा का विसर्जन करने निकले थे। इस दौरान वे अवैध हथियार और गोली लेकर चले थे। ऐसे में रास्त में उनके द्वारा कई जगह पर हवाई फायरिंग की गई।

जहानाबाद का रहनेवाला था धीरज

दिनकर गोलंबर से जैसे ही नाला रोड में प्रवेश किया, वैसे ही एक युवक ने हवाई फायरिंग की. गोली चलने की आवाज सुनते ही कदमकुआं थानाध्यक्ष विमलेंदू अपनी पुलिस टीम के साथ तुरंत वहां पहुंथे, लेकिन युवक तुरंत ही भीड़ की आड़ में निकल गया. फायरिंग से संबंधित एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें पीले रंग का कुर्ता पहने हुए युवक हवा में फायरिंग करते और भागते हुए दिख रहा है. इसके बाद विसर्जन जुलूस कारगिल चौक पर पहुंचा. वहां भी किसी युवक ने फायरिंग की, लेकिन गोली छात्र धीरज को लग गयी और उसे पीएमसीएच पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गयी। SSP मानवजीत सिंह ढिल्लों ने पुष्टि की है। इनके अनुसार घायल धीरज सैदपुर हॉस्टल में ही रहता है। वो मूल रूप से जहानाबाद का रहने वाला है। विसर्जन के बाद ही पुलिस इस मामले की जांच करेगी।

घटना के बाद कई छात्र वहां से भाग गये. इसके बाद प्रशासन ने प्रतिमा का विसर्जन कराया और कारगिल चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को खंगाला जा रहा है, ताकि फायरिंग करने वाले की पहचान की जा सके। नाला रोड में जिस पीले कुर्ते पहने युवक ने फायरिंग की थी, उस पर ही कारगिल चौक के समीप फायरिंग करने का शक जा रहा है। देर रात पुलिस ने सैदपुर हॉस्टल में छापेमारी की. खास बात यह है कि जुलूस के दौरान सिटी एसपी, डीएसपी से लेकर कई पुलिस पदाधिकारी व जवान थे, लेकिन फिर भी युवक फायरिंग करने से बाज नहीं आये और पकड़े भी नहीं गये।

अशोक राजपथ कर दिया गया था पुलिस छावनी में तब्दील

शुक्रवार को मिंटो, जैक्शन, बीएन कॉलेज व सैदपुर छात्रावास में स्थापित प्रतिमा का विसर्जन होना था. इसे लेकर अशोक राजपथ को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था, ताकि विसर्जन जुलूस के दौरान आपस में टकराव न हो, साथ ही स्थानीय लोगों से भी झड़प न हो। इसके लिए पुलिस ने सभी छात्रावासों को अलग-अलग समय में विसर्जन करने का समय दिया था और जैसे ही विसर्जन जुलूस निकला, वैसे ही आगे व पीछे पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी. पुलिसकर्मी जुलूस के साथ ही आगे बढ़ रहे थे, ताकि अप्रिय स्थिति उत्पन्न नहीं होने दिया जाये. लेकिन फिर भी कारगिल चौक पर दूसरी बार एक युवक ने फायरिंग की और छात्र धीरज की मौत हो गयी।


Find Us on Facebook

Trending News