न्यूज फॉर नेशन की खबर का असर: खबर के बाद हरकत में आयी पुलिस, शराबियों पर किया मामला दर्ज

न्यूज फॉर नेशन की खबर का असर: खबर के बाद हरकत में आयी पुलिस, शराबियों पर किया मामला दर्ज

सुपौल. बीते 8 सितम्बर को जिले के त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल के एकाउंटेंट का शराब पीते दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इस पर न्यूज फॉर नेशन ने प्रमुखता से खबर छापी थी. इसके बाद स्थानीय पुलिस हरकत में आई और मामले की जांच शुरू की. गहन जांच के बाद पुलिस ने वायरल वीडियो में शामिल अस्पताल के एकाउंटेंट सुभाष सिंह, आउट सोर्सिंग के सुपरवाइजर पवन कुमार रजक, थाना क्षेत्र अन्तर्गत लालपट्टी वार्ड नम्बर 16 निवासी सर्वेश कुमार यादव, थाना क्षेत्र के बाजितपुर निवासी अर्जुन सरदार सहित अन्य अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज किया है.

साथ ही दर्ज प्राथमिकी में वायरल वीडियो में शामिल व्हाइट पेंट वाले संभावित अस्पताल के प्रबंधक प्रेम रंजन औऱ जूता पहने हुए अन्य व्यक्ति को भी आरोपी माना गया है. वहीं दर्ज प्राथमिकी में अस्पताल के प्रभारी जो जानते हुए भी मामले को छिपाने का प्रयास किए हैं. उनको भी दोषी माना गया है. थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने मामले के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि वायरल वीडियो, संकलित साक्ष्य औऱ गहन जाँच के बाद थाना कांड संख्या 299/21 दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ कर दिया गया है. वीडियो में शामिल दर्ज प्राथमिकी में नामजद आरोपी को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा.

बता दें कि अनुमंडलीय अस्पताल एकाउंटेंट सुभाष सिंह और आउटसोर्सिंग के सुपरवाइजर पवन रजक का शराब पीते दो वीडियो बीते 8 सितम्बर को वायरल हुआ है. इसमें पहला वीडियो अस्पताल के सामने स्थित एक दवा दुकान का बताया जा रहा है. वहीं दूसरा वीडियो अस्पताल परिसर स्थित एकाउंटेंट के सरकारी आवास का बताया जा रहा है. जिसमें एकाउंटेंट सुभाष सिंह अपने साथियों के साथ मांस भात के साथ शराब का सेवन कर रहे हैं.

वीडियो वायरल होने के बाद जब वायरल वीडियो के आधार पर खबर मीडिया में आते ही एकाउंटेंट सुभाष सिंह, आउटसोर्सिंग के सुपरवाइजर पवन कुमार रजक औऱ अस्पताल के प्रबंधक प्रेम रंजन तीनों अस्पताल से फरार हो गए. साथ ही अस्पताल के सामने स्थित जिस दवा दुकान का पहला वीडियो बताया जा रहा है. उसके कथित दवा दुकानदार सर्वेश कुमार यादव भी अपनी दुकानों को बंद कर फरार हैं. वहीं अस्पताल में दिखने वाले थाना क्षेत्र के बाजितपुर निवासी अर्जुन सरदार भी वीडियो वायरल होने के बाद से अस्पताल परिसर में दिखाई नहीं दे रहे हैं.

अचानक ही इन सबों का इस तरीके से गायब होना वायरल वीडियो में दिखाए गए करतूतों के सत्यता की ओर ईशारा करता है. इतना ही नहीं मालूम हो कि एकाउंटेंट सुभाष सिंह छातापुर विधायक निरज कुमार बबलू के रिश्तेदार भी बताते थे. और अस्पताल कर्मी को धमका के अवैध वसूली भी करते थे. जिसको लेकर आए दिन अस्पताल के कर्मी में खटपटाहट की माहौल देखी जाती थी.

हलाकिं स्थानीय पुलिस ने इन सभी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है औऱ अब यह पुलिस के लिए अनुसंधान का विषय है. अनुसंधान के उपरांत ही कुछ कहा जा सकता है लेकिन प्राथमिकी दर्ज होने के बाद इन सबों की मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही है. अब तो देखने वाले बात होगी कि इन शराबी कब तक सलाखों के पीछे जाएंगे.

Find Us on Facebook

Trending News