नोट की गड्डियों पर सोने वाले भ्रष्ट 'इंजीनियर' की पूरी पेंशन जब्त, 14 लाख रिश्वत लेते हुआ था अरेस्ट, घऱ में मिले थे 2.36 करोड़ नकद

नोट की गड्डियों पर सोने वाले भ्रष्ट 'इंजीनियर' की पूरी पेंशन जब्त, 14 लाख रिश्वत लेते हुआ था अरेस्ट, घऱ में मिले थे 2.36 करोड़ नकद

PATNA: नोटों की सेज पर सोने वाले भ्रष्ट रिटायर्ड कार्यपालक अभियंता की पूरी पेंशन राशि कटौती कर ली गई है. इस संबंध में पथ निर्माण विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है. पटना पश्चिम पथ प्रमंडल के तत्कालीन कार्यपालक अभियंता सुरेश प्रसाद सिंह को निगरानी ब्यूरो ने 8 जून 2019 को 14 लाख रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. भ्रष्ट इंजीनियर के घर की तलाशी में 2 करोड़ 36 लाख 23 हजार नगद पाया गया था .इसके अलावे बड़ी संख्या में पासबुक एवं अन्य संपत्ति मिले थे। पैसे को दीवान पलंग में रखा गया था. बताया जाता है उसी पलंग के ऊपर सोता था. 

भ्रष्ट इंजीनियर को निगरानी ब्यूरो ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था. इसके बाद 2020 में विभागीय कार्यवाही शुरू की गई और मुख्य जांच आयुक्त को संचालन पदाधिकारी नियुक्त किया गया. इधर भ्रष्ट कार्यपालक अभियंता सुरेश प्रसाद सिंह 31 मार्च 2022 को सेवानिवृत्त हो गए. संचालन पदाधिकारी ने इंजीनियर सुरेश प्रसाद सिंह की पूरी पेंशन राशि को काटने का आदेश दिया। इसके बाद पथ निर्माण विभाग ने उनकी पूरी पेंशन राशि को शून्य(0) कर दिया है. यानी अब एक भी रुपया पेंशन के रूप में नहीं मिलेगा.

बता दें, पटना के एक ठेकेदार ने निगरानी ब्यूरो में भ्रष्ट कार्यपालक अभियंता की शिकायत की थी। ठेकेदार ने बिल भुगतान के एवज में रिश्वत मांगने की शिकायत की थी। शिकायत के बाद निगरानी ब्यूरो ने पटना के पटेल नगर में भ्रष्ट इंजीनियर के आवास में छापा मारा था. रेड में अकूत संपत्ति का पता चला था। साथ ही उसके ठिकानों से करोड़ों रू नकद मिले थे। तब यह मामला काफी चर्चा में आया था. 

 

Find Us on Facebook

Trending News