PM ने 2019 में किया था शिलान्यासः 20 हेक्टेयर जमीन की वजह से पटना मेट्रो के डिपो का निर्माण कार्य नहीं हो सका शुरू

PM ने 2019 में किया था शिलान्यासः 20 हेक्टेयर जमीन की वजह से पटना मेट्रो के डिपो का निर्माण कार्य नहीं हो सका शुरू

PATNA: 20 हेक्टेयर जमीन नहीं मिलने की वजह से पटना मेट्रो के डिपो निर्माण का कार्य शुरू नहीं हो पा रहा। पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद सुशील कुमार मोदी ने आज नई दिल्ली में पटना मेट्रो रेल का निर्माण करा रहे दिल्ली मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के एमडी मंगू सिंह और डायरेक्टर दलजीत सिंह से मुलाकात की। मुलाकात के बाद मोदी ने कहा कि टेंडर हो जाने के बावजूद पटना मेट्रो के डिपो का निर्माण कार्य 20 हेक्टेयर जमीन की अनुपलब्धता के कारण प्रारम्भ नहीं हो पा रहा है। 17 फरवरी, 2019 में प्रधानमंत्री के शिलान्यास के उपरांत अभी तक पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की भौतिक प्रगति 01 और वित्तीय उपलब्धि मात्र 3.1 प्रतिशत है।

मोदी ने कहा कि पटना मेट्रो के डिपॉजिट वर्क करा रहे दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों के अनुसार प्रायॉरिटी कॉरिडोर आईएसबीटी से मलाही पकड़ी तक जिसमें 6.60 कि मी एलिवेटेड होगा,का काम प्रारम्भ हो गया है। पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के डिपो ( रेल इंजन व कोच के रख-रखाव तथा मरम्मत की जगह) के निर्माण के लिए 20 हेक्टेयर जमीन की आवश्यकता है, जिसके अधिग्रहण पर राज्य सरकार को करीब एक हजार करोड़ रु. का खर्च आएगा। डिपो निर्माण के लिए टेंडर हो चुका है, जमीन उपलब्ध होते ही निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा।

बता दें, 13,365. 77 करोड़ की लागत वाली 32.487 कि मी लम्बी पटना मेट्रो रेल परियोजना का निर्माण दो कॉरिडोर में होना है। पहला कॉरिडोर 17.933 कि मी और दूसरा 14.554 कि मी का क्रमशः  दानापुर से मीठापुर और पटना रेलवे स्टेशन से आईएसबीटी होगा। इसके लिए जापान सरकार से 5520.93 करोड़ का ऋण भी लिया जाना है।

Find Us on Facebook

Trending News