झारखंड में हेमंत सोरेन की जगह नए मुख्यमंत्री बनने की रेस में पांच चेहरे शामिल, जानिए क्यों छोड़ना पड़ेगा सीएम पद

झारखंड में हेमंत सोरेन की जगह नए मुख्यमंत्री बनने की रेस में पांच चेहरे शामिल, जानिए क्यों छोड़ना पड़ेगा सीएम पद

रांची. झारखंड में बड़ा राजनीतिक संकट खड़ा होने के आसार दिखने लगे हैं क्योंकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की सिफारिश पर चुनाव आयोग ने बड़ा निर्णय ले लिया है. दरअसल राज्यपाल ने हेमंत सोरेन के लाभ के पद पर होने के मामले में चुनाव आयोग से राय मांगी थी. चुनाव आयोग ने हेमंत सोरेन का पक्ष जानने के बाद अपनी राय राज्यपाल को भेज दी है. 

ऐसे में अब तय माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री पद के दुरुपयोग का आरोप का आरोप झेल रहे सीएम सोरेन की कुर्सी जा सकती है. सीएम सोरेन पर आरोप है कि उन्होंने सीएम पद रहते हुए अपनी साझेदारी वाली कंपनी को खनन पट्टा दिलाया और उसका नवीनीकरण कराया. मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए ऐसा करना जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 9(A) के तहत गंभीर मामला है. एक प्रकार से यह पद के दुरूपयोग से जुड़ा मामला है. चुकी सोरेन ने भी माना है कि उन्होंने ऐसा किया है तो इसके बाद यह तय लग रहा है कि चुनाव आयोग की रिपोर्ट में सोरेन की विधान सभा सदस्यता रद्द करने पर मुहर लग जाएगी. इससे सोरेन को सीएम पद छोड़ना पड़ेगा.

सीएम सोरेन अगर अपना पद छोड़ते हैं तो उनकी जगह कौन झारखंड का नया मुख्यमंत्री होगा यह भी बड़ा पेंच है. दरअसल, हेमंत सोरेन के बारे में कहा जा रहा है कि वे मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद अपनी जगह पत्नी कल्पना सोरेन को मुख्यमंत्री बनवा सकते हैं. सूत्रों का कहना है कि ऐसा करने के लिए उन्होंने पहले ही झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायकों से बात कर ली है. पिछले शनिवार यानी 20 अगस्त को सोरेन ने अपने विधायकों के साथ एक बैठक की थी और आने वाले समय में अगर कोई संकट आटा है तो क्या किया जाए इस पर चर्चा हुई थी. 


चुकी इस मामले में हेमंत के साथ उनके भाई बसंत सोरेन पर भी अयोग्यता की तलवार लटक रही है. ऐसे में हेमंत के कुर्सी छोड़ने पर बसंत के सीएम बनने का सवाल नहीं है. वहीं, उनके पिता शिबू सोरेन भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं लेकिन उन पर भी कई मामले चल रहे हैं. उनका स्वास्थ्य भी खराब रहता है. मां रूपी सोरेन की उम्र और खराब सेहत की वजह से उनके भी सीएम बनने की संभावना कम है. ऐसे में हेमंत सोरेन के पास परिवार में सिर्फ दो ही विकल्प बचते हैं. उनकी पत्नी कल्पना सोरेन और उनकी भाभी सीता सोरेन. हालांकि उस स्थिति में सीता सोरेन की तुलना में कल्पना के ऊपर हेमंत विश्वास जता सकते हैं.

सोरेन परिवार से बाहर के जिन लोगों को सीएम बनाने की चर्चा है उसमें परिवहन मंत्री चंपई सोरेन और महिला और बाल विकास मंत्री जोबा मांझी का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है. दोनों ही हेमंत सोरेन के सबसे खास लोगों में शामिल हैं. चुकी कल्पना सोरेन पर भी रजिस्टर्ड जमीन खरीदने का भी मुद्दा है ऐसे में उनकी जगह सोरेन अपने किसी खास को सीएम बना सकते हैं. उस स्थिति में चंपई और जोबा में से किसी पर दांव लगाया जा सकता है.


Find Us on Facebook

Trending News