रालोसपा नेता की हत्या के लिए दी गयी 5 लाख की सुपारी, सरपंच सहित 4 लोग गिरफ्तार

VAISHALI : रालोसपा नेता मनीष सहनी हत्याकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। वैशाली के जंदाहा में प्रखंड प्रमुख मनीष सहनी की उनके कार्यालय में ही गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। पुलिस ने इस मामले में एक सरपंच सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

हत्या के लिए दी गयी 5 लाख की सुपारी

गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ के बाद मनीष सहनी हत्याकांड का खुलासा हुआ। मनीष की हत्या के लिए 5 लाख रुपये की सुपारी दी गयी थी। शिक्षक बहाली में करोड़ों की उगाही रालोसपा नेता की हत्या की वजह बनी। बीते 13 अगस्त को जंदाहा के प्रखंड प्रमुख मनीष सहनी की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। हत्याकांड के इस मामले में स्थानीय जेडीयू विधायक उमेश कुशवाहा का नाम आने के बाद सियासी भूचाल भी मचा था। मनीष की हत्या के बाद रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने खुलकर बिहार की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया था।

शिक्षक बहाली में करोड़ों की उगाही बनी हत्या की वजह

इस हत्याकांड में पुलिस ने पूर्व प्रमुख और स्थानीय सरपंच के साथ 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। कमलेश राय, संजीत कुमार, अवधेश सिंह व हरिशंकर चौधरी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मेन शूटर के तौर पर आनंद मोहन का नाम सामने आया है। वह मेहसौर का रहनेवाला है। वैशाली के एसपी मानव जीत सिंह ढिल्लो के अनुसार प्रखंड में शिक्षक बहाली को लेकर करोड़ों की उगाही और राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता रालोसपा नेता एवं प्रखंड प्रमुख मनीष सहनी की हत्या का मुख्य कारण बना। शिक्षक बहाली के लिए कुल 107 सीटें थी जिसके लिए 23, 000 लोगों ने आवेदन दिया था। बताया जा रहा है कि नौकरी दिलाने के नाम पर कुल डेढ़ से दो करोड़ रुपये की वसूली की गयी थी। 

जेडीयू विधायक की संलिप्तता को लेकर सस्पेंस

एसपी ने इस मामले में जेडीयू विधायक की संलिप्तता के सवाल पर कहा कि अभी तक विधायक के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है लेकिन विधायक को अभी क्लीन चिट नहीं दी जा रही है। हत्या के इस मामले में अभी कई बिंदुओं पर जांच जारी रहेगी। 




Find Us on Facebook

Trending News