बाढ़ का कहर: गंडक नदी के जलस्तर बढ़ने से कई गांवों में घुसा पानी, आवागमन के लिए बस नाव ही सहारा

बाढ़ का कहर: गंडक नदी के जलस्तर बढ़ने से कई गांवों में घुसा पानी, आवागमन के लिए बस नाव ही सहारा

गोपालगंज. जिले में गंडक का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. इसस सदर प्रखंड के जागीरी टोला, खाप मकसूदपुर, कठघरवा, रामपुर टेनग्राही सहित आधा दर्जन पंचायत प्रभावित हैं. रामपुर टेंगराही के रजवाही गांव पूरी तरह से बाढ़ के पानी से घिर गया है. इसके चलते इस गांव में जाने का रास्ता बंद हो गया है. अब आने-जाने के लिए नाव ही एक मात्र साधन है. लेकिन पर्याप्त नाव नहीं होने की वजह से गांव के सैकड़ों लोग अभी भी गांव में ही चारों तरफ पानी से घिरे हुए हैं.

गांव के कई लोग विस्थापित होकर यादोंपुर-मंगलपुर महासेतु के किनारे बसे हुए है. टेंट बनाकर लोग अपने परिवार के साथ हैं. ऊपर से बारिश का पानी और नीचे से दलदली मिट्टी और छोटे से बांस के चचरे पर जिंदगी बीत रही है. ग्रामीणों के मुताबिक उन्हें कोई सुविधा नहीं मिली है. गांव में जाने का साधन नहीं है. वे सड़क के किनारे टेंट बना कर रहे हैं, जो झोपड़ी बनाया गया था. वह भी पानी में डूब गया है. इन्हें रहने के साथ खाना खाने और खाना बनाने का भी संकट है.

गोपालगंज में बाढ़ जैसे हालात ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है. हालांकि लगातार पानी बढ़ने से अब नए इलाकों में बाढ़ का पानी घुस रहा है. डीएम डॉ. नवलकिशोर चौधरी ने कहा है कि तटबन्धों के अंदर जो लोग बसे हुए हैं, उन्हें बाहर आने की अपील की जा रही है. बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को हर सम्भव मदद की जाएगी. तटबंधों की सुरक्षा के लिए बाढ़ प्रमंडल के अधिकारियों को निर्देश दिया गया है और जगह-जगह  होमगार्ड जवानों को  तैनात किया गया है.

Find Us on Facebook

Trending News