विधानसभा में पहली बार सरकार और विपक्ष की भूमिका में दिखेंगे छात्र, सदन में रखेंगे विधेयक, करेंगे बहस

विधानसभा में पहली बार सरकार और विपक्ष की भूमिका में दिखेंगे छात्र, सदन में रखेंगे विधेयक, करेंगे बहस

RANCHI : झारखंड विधानसभा में पहली बार 31 अक्टूबर को छात्रों की संसद बैठेगी। उस समय दर्शक दीर्घा में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत राज्य के सभी मंत्री और विधायक होंगे। विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो शैडो स्पीकर की भूमिका में होंगे।  वहीं इस दौरान विधेयक भी लाया जाएगा। सबसे बड़ी बात यह है कि इसके लिए 24 छात्रों का चयन किया गया है। जो कि प्रदेश के 24 जिलों से चुने गए हैं। इनमें 12 छात्र सरकार की तरफ से और 12 छात्र विपक्ष की तरफ से सदन की कार्यवाही में शामिल होंगे। 

छात्रों का चयन हुआ पूरा

विधानसभा द्वारा पहली बार आयोजित हो रहे छात्र संसद के लिए चयन की प्रक्रिया पूरी हो गयी है. राज्य भर से 24 छात्रों का चयन किया गया है. इसमें हर जिले से एक छात्र है़ इनमें रांची से स्मृति राज, खूंटी से सिद्धार्थ कश्यप, सिमडेगा से विनय बड़ाइक, लोहरदगा से डेजी लकड़ा, पूर्वी सिंहभूम से कौरवी पात्रा, जमशेदपुर से जैश ठाकुर, सरायकेला से शंभु शंकर बेहरा, हजारीबाग से नूपुर माला, रामगढ़ से सिया गुप्ता, चतरा से श्वेता कुमारी, धनबाद से सौरभ कुमार, कोडरमा से इरम जिलानी, गिरिडीह से सभ्यता भूषण और दुमका से रवि शशांक व अन्य शामिल हैं. चनयिन छात्रों में आठ लड़कियां भी हैं।

94 छात्रों में 24 का हुआ चयन

विभिन्न विश्वविद्यालय व कॉलेजों के 94 में से 24 छात्रों के चयन के लिए बुधवार को विधानसभा में निर्णायक मंडली बैठी. तीन अलग-अलग पैनल ने ऑनलाइन इंटरव्यू लिया। प्रत्येक पैनल में चयन समिति के चार सदस्य शामिल थे. पहले पैनल में एनके सिंह, अभय सागर मिंज, विवेक कुमार व दयमंती सिंकू, दूसरे पैनल में रणेंद्र कुमार, विजय शंकर दुबे, एमए हक व जयदीप देवघरिया और तीसरे पैनल में सूरज भाई पटेल, संजय मिश्र, अनवर मल्लिक व महादेव टोप्पो शामिल थे। पैनल के सहयोग के लिए विधानसभा के संयुक्त सचिव मिथिलेश कुमार मिश्र, संयुक्त सचिव मधुकर भारद्वाज, रामनिवास दास और रविशंकर प्रसाद मौजूद थे।


Find Us on Facebook

Trending News