अरविंद कुमार की पुस्तक 'चुटकी चुटकी गंगाजल' का पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने किया विमोचन

अरविंद कुमार की पुस्तक 'चुटकी चुटकी गंगाजल' का पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने किया विमोचन

गया. शिक्षाविद और लेखक अरविंद कुमार की पुस्तक 'चुटकी चुटकी गंगाजल' का विमोचन गया. यह विमोचन जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के सभागार में किया गया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय रहे. पुस्तक विमोचन समारोह में गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि अरविंद कुमार की लेखनी ने हमेशा ही गुज़रे दौर की स्मृतियों को ताज़ा किया हैय उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया के दौर में ऐसी किताबों की महत्ता और बढ़ जाती है. पूर्व डीजीपी ने कहा कि इस पुस्तक में सरल और स्थानीय भाषा को विशेष जगह दी गई है, जो प्रशंसनीय है.

वहीं पुस्तक विमोचन में विशिष्ट अतिथि कवि एवं लेखक डॉ. संजय पंकज व बीआर अम्बेडकर यूनिवर्सिटी, मुज़फ़्फ़रपुर के अंग्रेज़ी विभाग के रिटायर्ड प्रोफेसर डॉ. देवव्रत अकेला के साथ-साथ चित्रकार एवं साहित्यकार गोपाल फ़लक, भाषाविद एवं समीक्षक डॉ. सुमन कुमार सिंह, गया जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष सुरेंद्र कुमार सुरेंद्र व पुस्तक के लेखक अरविंद कुमार ने संयुक्त रूप से किया. इस अवसर पर लेखकों, शिक्षकों, व्याख्याताओं और साहित्यानुरागियों की मौजूदगी उल्लेखनीय रही.

लेखक अरविंद कुमार ने कहा कि एक सौ अस्सी पृष्ठों की इस पुस्तक में जीवन दर्शन और संस्मरणों को साझा किया गया है. यह एक ऐसी पुस्तक है, जो विभिन्न विषयों का एक कॉलाज है. उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे अध्यायों में बंटी इस पुस्तक को ज्ञान चक्षु और बिरसती यादें नाम से दो हिस्सों में प्रस्तुत किया गया है.

इससे पहले अतिथियों को स्मृति चिन्ह, अंग वस्त्र और श्रीफल देकर स्वागत किया गया. मंच का संचालन सुमंत ने किया, जबकि स्वागत भाषण अरुण हरलीवाल ने दिया. स्वस्तिवाचन दीपक कुमार ने पेश किया. कार्यक्रम की अध्यक्षता सुरेंद्र कुमार सुरेंद्र ने किया.


Find Us on Facebook

Trending News