पूर्व मंत्री कार्तिक सिंह विवादः जेल में बंद बिल्डर राजू सिंह ने अब 2 बड़े लोगों के नाम किया खुलासा, कहा- ये लोग दबाव बना रहे,जानें कौन हैं वो...

पूर्व मंत्री कार्तिक सिंह विवादः जेल में बंद बिल्डर राजू सिंह ने अब 2 बड़े लोगों के नाम किया खुलासा, कहा- ये लोग दबाव बना रहे,जानें कौन हैं वो...

PATNA: बिहार के मंत्री रहे कार्तिक सिंह के खिलाफ गिरफ्तार वारंट रहने की वजह से उन्हें मंत्री पद से हाथ धोना पड़ा है। मंत्री पद तो गया ही अब लगातार उनके खिलाफ आरोप लग रहे हैं। राजधानी पटना के बिल्डर राजू सिंह की पत्नी दिव्या सिंह ने बिहार के पूर्व कानून मंत्री पर गंभीर आरोप लगाई थी। उन्होंने कहा था कि बेउर जेल में बंद उनके पति को धमकाने के लिए कार्तिकेय सिंह और उसके गुर्गे बेउर जेल पहुंचते हैं और मामले को रफा-दफा करने की बात करते हैं. पत्नी के बाद अब जेल में बंद बिल्डर राजू सिंह ने अपना मुंह खोला है। उसने खुलासा किया है कि चार लोग जेल पहुंचे और मैनेज करने का दबाव बना रहे थे. उन चार में 2 लोगों के नाम का खुलासा राजू सिंह ने किया है। 

राजू सिंह ने दो का लिया नाम 

बेउर जेल में बंद और दो दिन पहले पटना सिविल कोर्ट में पेशी के लिए पहुंचे बिल्डर राजू सिंह ने विवाद और बढ़ा दिया है। लपेटे में कार्तिक सिंह तो पहले से हैं,अब उनके साथ दो अन्य नाम जुड़ गये हैं। बिल्डर राजू सिंह ने पटना के दो बड़े लोगों पर आरोप लगाकार सनसनी फैला दी है। राजू सिंह ने कहा था कि वैसे तो इसके बारे में हमारी पत्नी ने सारी बातें बता दी है. हम 22 अगस्त को कोर्ट में आए थे तो हमने अपनी पत्नी को सारी बता दिया था कि जेल परिसर में यह लोग मिलने आए थे. वहां पर 4 लोग गए थे. उनमें एक ठेकेदार हैं. राजू सिंह ने आगे कहा है कि एक आलोक कुमार शर्मा थे जो पनाश बैंक्वेट के मालिक हैं.एक की पत्नी अभी नगर निगम चुनाव में भाग्य आजमाने वाली है. यह लोग गए थे और बोले थे कि कंप्रोमाइज कर लीजिए, नहीं तो दिक्कत हो जाएगी. आपके परिवार को दिक्कत हो जाएगी. हमने कहा कि देखते हैं कि क्या दिक्कत होता है. फिर उसके बाद वे लोग लोग चले गए. हालांकि राजू सिंह ने जिन दो लोगों के नाम का खुलासा किया है उनका इस केस से क्या लेना-देना है,इस संबंध में उनका पक्ष सामने नहीं आया है। 

राजू सिंह से पहले पत्नी दिव्या ने लगाई थी गंभीर आरोप 

इसके पहले 6 सितंबर को जेल में बंद बिल्डर राजू सिंह की पत्नी दिव्या सिंह ने वीडियो जारी कर गंभीर आरोप लगाई थी. उसने कहा था कि कार्तिकेय सिंह जी कानून मंत्री रहे हैं. उनपर मेरे पति के अपहरण का मामला है और उनके खिलाफ वारंट भी जारी है लेकिन वो फरार चल रहे हैं. मेरे पति एक साल से जेल में हैं. उनपर कोई क्रिमिनल केस नहीं है. किसी तरह का क्रिमिनल चार्ज नहीं है. चूंकि इस केस को लेकर वो ज्यादा न बोले इसको लेकर उनपर दबाव बनाया जा रहा है. 20 अगस्त को चार गाड़ियों से लोग बेउर जेल जाते हैं और कहते हैं कि इस केस में आप समझौता करिए नहीं तो मुसीबत में आ जाएंगे. तो ये सारी चीजें होती है. इसके बाद घर पर लोग आ जाते हैं. फोन करते हैं. बहुत डर लग रहा है. मैने इस बारे में एसएसपी सर को पत्र लिखा, उन्होंने कहा कि आपको सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी. लेकिन अभी तक कोई सुरक्षा नहीं मिली है. 

Find Us on Facebook

Trending News