भागलपुर में गंगा की तेज कटाव से खतरे में टपुआ गांव का अस्तित्व, दहशत में ग्रामीण

भागलपुर में गंगा की तेज कटाव से खतरे में टपुआ गांव का अस्तित्व, दहशत में ग्रामीण

BHAGALPUR : भागलपुर पीरपैंती प्रखंड के टपुआ गांव में अचानक गंगा का बहाव तेज होने से लगभग  एक सौ मीटर तटबंध गंगा में समाहित हो गया. जिसके कारण ग्रामीणों के बीच डर का माहौल हो गया है. ग्रामीण गंगा की तेज कटाव की भय से गांव छोडकर पलायन करने लगे हैं. वही टपुआ गांव में गंगा की कटाव स्थल पर लोगों के बीच अफरातफरी मच गया है. 

गंगा कटाव स्थल के पास से  लोगों ने अपना मकान खाली कर दिया है. बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले कटाव निरोधी संघर्षरत के अध्यक्ष गिरीराज सिंह ने जो जगह चिन्हित है. वहां काम कराने को कहा था. 

उसी जगह काफी तेज कटाव भी हुआ है. ग्रामीणों का आरोप है कि सरकार ने बढ़ते कटाव की ओर कोई ध्यान नहीं दिया. यदि सरकार ध्यान देती तो कटाव नहीं होता और टपुआ गांव बच जाता. 

बताते चले की बिहार में पिछले दिनों हुई मुसलाधार बारिश से कई नदियों का जलस्तर बढ़ गया है. गंगा, बूढी गंडक सहित कई नदिया अपने उफान पर है. जिससे बिहार के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति हो गयी है. कई इलाके पूरी तरह जलमग्न हैं. जबकि लाखों की आबादी इस बाढ़ से प्रभावित हुई है. नदियों के कटाव से कई गांवो पर अस्तित्व का संकट मंडरा रहा है.

भागलपुर से मनोज कुमार सिंह की रिपोर्ट 



Find Us on Facebook

Trending News