भरोसा दिया जिंदगी में रोशनी भरने का, लेकिन ऐसा ऑपरेशन किया 26 लोगों की आंखों के आगे छा गया अंधेरा

भरोसा दिया जिंदगी में रोशनी भरने का, लेकिन ऐसा ऑपरेशन किया 26 लोगों की आंखों के आगे छा गया अंधेरा

MUZFFARPUR : बिहार के मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां ऑपरेशन के बाद 26 लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है। घटना से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा है। फिलहाल, गंभीर संक्रमण के शिकार 15 मरीजों को पटना भेजा गया है। वहीं इस पूरे मामले की जांच की बात कही गई है। 

मामला बीते 22 नवंबर की है, जब एक ट्रस्ट के सहयोग से आई हॉस्पीटल में 60 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन करवाया गया था।  लेकिन अगले दिन, अगले दिन पट्टी खुलने के बाद उन्हें कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। ऑपरेशन के बाद 26 मरीज ऐसे थे, जिन्हें कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। लगभग एक सप्ताह तक आई हॉस्पीटल के अधिकारी इस मामले को छिपाने की कोशिश में लगे रहे। लेकिन सोमवार को यह मामला सामने आ गया। जिसके बाद जिले के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। 


घटना के सामने आने के बाद जिले से सीएस ने इसे गंभीरता से लिया है और जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया है। वहीं आधा दर्जन मरीजों को एसकेएमसीएच में रेफर कराकर इलाज शुरू कराया गया है। कई मरीजों का पटना में इलाज चल रहा है। आई हॉस्पिटल में भी अभी भी कुछ मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

अपने प्रियजनों की आंखों को रोशन करने की जगह उन्हें अंधा कर देने को लेकर परिजनों में गुस्सा है। कई परिजनों ने सीएस से लिखित में शिकायत कर सरकार से मुआवजे की मांग की है। मरीज के परिजनों का कहना है कि ऑपरेशन के दौरान कईयों की आंखें निकालने के भी सुझाव दिए थे।


Find Us on Facebook

Trending News