नीलगाय, नीलबकरी और घोड़परास के फेरा में सदन में फंस गए विधायक जी, मंत्री जी ने जवाब भी दिया कुछ ऐसा

नीलगाय, नीलबकरी और घोड़परास के फेरा में सदन में फंस गए विधायक जी, मंत्री जी ने जवाब भी दिया कुछ ऐसा

PATNA. सदन में प्रश्न काल के दौरान बीजेपी विधायक नीलगाय ,नीलबकड़ी और घोड़परास के फेरा में फंस गए। हुआ कुछ ऐसा की बेगूसराय से विधायक कुंदन कुमार ने सदन में सम्बंधित मंत्री से सवाल पूछा कि नीलगाय जंगली जानवरों की श्रेणी में रखा गया है या नहीं या फिर इसके द्वारा जो फसल को क्षति पहुंचाया जाता है इसके लिये सरकार को तरफ से किसानों को मुआवजा देने का प्रावधान है कि नहीं।

इस पर बिहार विधानसभा अध्यक्ष ने सदस्य को देखते हुए कहा कि माननीय सदस्य नीलगाय को आप नील बकरी या फिर घोड़परास बोलें। उन्होंने बताया कि नियम के अनुसार जंगली जानवरों द्वार फसल को नुकसान पहुंचाने की स्थिति में 25 हजार रुपए का प्रावधान है

इस दौरान घोड़परास को जंगली जानवर माने जाने के सवाल पर मंत्री जी ने बताया कि वह जंगली जानवर माना जाता है, लेकिन उसके द्वारा फसल नुकसान पहुंचाने पर कोई प्रावधान नहीं है।   इस पर सदस्य ने सुधार करते हुए घोड़परास बोलने की कोशिश की लेकिन वे घोड़पारस बोल गए।


Find Us on Facebook

Trending News