दीपावली की रात पत्नी को दें ये उपहार, घर में मां लक्ष्मी का सदैव रहेगा वास

दीपावली की रात पत्नी को दें ये उपहार, घर में मां लक्ष्मी का सदैव रहेगा वास

DESK: पूरे देशभर में दीपावली का त्योहार मनाया जा रहा है। आज के दिन लोग घरों को दीए से रोशन कर के अपने मन के अंधकरा को दूर करते हैं। इसके अलावा दीपावली पर मां लक्ष्मी और गणेश की पूजा-अर्चना का खास महत्व है। दीपावली मां लक्ष्मी का सबसे प्रिय पर्व है। लक्ष्मी जी की कृपा प्राप्त करने के लिए इससे अच्छा कोई दूसरा शुभ दिन नहीं होता है। इस भौतिक युग में सुख ,समृद्धि और ऐश्वर्य बिना मां लक्ष्मी की कृपा के संभव ही नहीं है। मां लक्ष्मी की कृपा के लिए इन बातों का रखें विशेष ख्याल। 

दीपावली के पांच पर्व होते हैं धनतेरस, चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा, यम दितिया दीपक रखने से पहले उनका आसन बिछाएं फिर खील, चावल कि ऊपर दीपक रखें. इससे घर में धन की सदा आमद बनी रहेगी। दीपावली के दिन प्रातः पूजा के समय पीतल या तांबे के लोटे में शुद्ध जल भरकर उसमें थोड़ी हल्दी घोल कर उसे पूजा में रखे। पूजा के उपरांत इस जल को पीले फूल से पूरे घर में थोड़ा थोड़ा छिड़क दें और बचा हुआ जल तुलसी या केले के पौधे में चड़ा दें अब इस क्रिया को नित्य पूजा के बाद किया करें घर पर माँ लक्ष्मी की सदैव कृपा बनी रहेगी। दीपावली पूजन के समय यदि आप अपनी पत्नी को कोई लाल वस्त्र उपहार में देंगे तो निश्चित ही आप पर माँ लक्ष्मी की स्थायी कृपा सदैव बनी रहेगी, कोशिश करें की आप की पत्नी को आपके द्वारा दिए गए उपहार का पहले से पता न हो तो बहुत ही अच्छा होगा । लेकिन अपनी माँ और बहन को भी उपहार अवश्य ही दें। 


दीपावली के दिन रात्रि में घर के प्रत्येक कमरे और मुख्य द्वार में गेंहू की ढेरी बना कर उसके ऊपर शुद्ध घी का दीपक प्रज्ज्वलित करना चाहिए जो रात भर जलता रहे. इससे रात्रि में माँ लक्ष्मी का घर में प्रवेश होता है , यह उपाय बहुत ही कारगर माना जाता है। व्यापार में व्यापार लक्ष्मी को प्रसन्न करके धन लाभ के लिए यह एक सिद्ध प्रयोग है. दीपावली की रात्रि को कपूर जला कर उसमे शुद्ध रोली को डाल दें , फिर जो राख प्राप्त होगी उसकी पुडिया बनाकर किसी लाल रुमाल याकपडे में बांधकर उसे तिजोरी/धन स्थान में रखने से व्यापर में आशातीत सफलता मिलती है ।

आय के नवीन स्रोत्र खुल जाते है। इस पर रोज धूप-अगरबत्ती दिखलाते हुए माँ लक्ष्मी से प्रार्थना जरुर करें। दीपावली को संध्या के समय हाथ में एक सुपारी और ताम्बें का सिक्का लेकर पीपल के पेड़ पर जाएँ उनको प्रणाम करके अपनी इच्छा बोलिए फिर सुपारी और ताम्बें का सिक्का अर्पित करके शीश निवा कर घर आ जाएँ। अगले दिन सुबह उसी पीपल का पत्ता लाकर उसे धोकर तिलक लगाकर अपनी गद्दी के नीचे रखेंगे तो व्यापर में किसी भी किस्म की बाधाएं नहीं आएँगी। दीपावली के दिन सायं काल और उसके बाद हर बुधवार को सात बेसन के लड्डू लायें और उन्हें गृह स्वामी के ऊपर से सात बार उसारने के बाद उन्हें घर से बाहर रख दें , दुसरे दिन उन लड्डुओं को पीली गाय को खिला दें तो गृह स्वामी की आय में लगातार वृद्धि होने लगती है। 

Find Us on Facebook

Trending News