औरंगाबाद में गोखुल सेना ने लगाया आरोप, कहा भाजपा सांसद की पूरी नहीं हुई कुटकु डैम्प परियोजना

औरंगाबाद में गोखुल सेना ने लगाया आरोप, कहा भाजपा सांसद की पूरी नहीं हुई कुटकु डैम्प परियोजना

AURANGABAD : आज औरंगाबाद के किसान अपने खरीफ फसल की सिंचाई के लिए एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। औरंगाबाद जिला के बहुतेरे क्षेत्रफल में खरीफ फसल की रोपाई नही किया गया हैं। जिसके कारण औरंगाबाद जिला के किसान के सामने आज एक बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई है जिसको लेकर गोखुल सेना के जिला अध्यक्ष ने संजीव कुमार ने मीडिया के साथ बातचीत के दौरान यह बताया की आज किसानों के ऊपर जो संकट आया है। इसका जिम्मेवार औरंगाबाद के भाजपा सांसद सुशील कुमार सिंह है। 


उन्होंने स्पष्ट शब्दो में यह कहा की बिहार के पूर्ब सीएम सत्येंद्र बाबू के द्वारा कुटकु डैम्प परियोजना का निर्माण कराया जा रहा था। तकरीबन सारे कार्य पूरा भी कर लिया गया था। मात्र प्रयोजन में फाटक लगाना शेष रह गया था। किसी कारण बस निर्माण कार्य में बन्द हो गया था। हालांकि आज केंद्र सरकार के द्वारा सारी समस्याओं का निदान कर दिया गया है। यहां तक की उस परियोजना के बचे कार्य को पूरा करने हेतु केंद्र सरकार ने बिहार सरकार तथा झारखंड सरकार को एक बड़ी राशि भी उपलब्ध करा दी है। लेकिन आज तक यह परियोजना उधेड़ बूंद में लटकी हुई है। जिसका जिमेवार औरंगाबाद सांसद सुशील कुमार हैं। जो इस परियोजना को राजनीतिक फायदा के लिए मुद्दा बनाकर रखे हुए हैं। 

लोकसभा चुनाव के पूर्व औरंगाबाद सांसद तथा गया सांसद एवं झारखंड के चतरा सांसद तथा कई सांसदों ने मिलकर अपनी राजनीतिक फायदा हेतु इस परियोजना पर प्रधानमंत्री को लाकर परियोजना का दुबारा से शिलान्यास करवाया गया। जबकि इस परियोजना का कार्य तकरीबन 80% पूरा कर लिया गया है। लेकिन लोकसभा चुनाव को लेकर यह हाई वोल्टेज ड्रामा किया गया। जिसका फायदा भी केंद्र सरकार को मिला। लेकिन आज भी इसे राजनीतिक मुद्दा बनाकर काम को बाधित औरंगाबाद सांसद के द्वारा किया जा रहा है। ताकि आने वाले 2024 की लोक सभा चुनाव इसी परियोजना को मोहरा बनाकर जीता जा सकता है। 

सांसद के द्वारा किसानों को भरमाने का काम  किया जा रहा है। जो अति निंदनीय है। उन्होंने यह भी बताया की कुटकु डैम्प परियोजना इतनी बड़ी परियोजना है। अगर 1 साल बारिश हो जाती है और गेट लगा दिया जाए तो 3 साल तक अगर एक बूंद भी बारिश नहीं होगी तो भी गया तक के किसानों को सिंचाई की संकट नहीं होगी।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News