भागलपुर : गोलीबारी को लेकर 15 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज, प्रमुख पति गिरफ्तार

भागलपुर : गोलीबारी को लेकर 15 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज, प्रमुख पति गिरफ्तार

BHAGALPUR : भवानीपुर थाना क्षेत्र के नगरपारा उत्तर पंचायत के नारायणपुर गांव में शुक्रवार की सुबह गोलीबारी की घटना में जख्मी प्रिंस यादव के चाचा धन्नी यादव के द्वारा भवानीपुर ओपी में प्रमुख पति मंटू यादव, अधिवक्ता सिकंदर यादव सहित पंद्रह लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है. घटना को लेकर भवानीपुर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए गोलीबारी के आरोपी प्रमुख पति मंटू यादव व विपिन यादव को खदेड़कर गिरफ्तार किया. इधर मुख्य आरोपी अधिवक्ता सिकंदर यादव की गिरफ्तारी के लिए सरगर्मी से पुलिस तलाश कर रही है. थानाध्यक्ष नीरज कुमार ने बताया कि जख्मी प्रिंस के चाचा धन्नी यादव ने प्रमुख पति मंटू यादव, अधिवक्ता सिकंदर यादव, वीरो यादव, तिरो यादव यादव, चंदू यादव, अविनाश कुमार, अमन कुमार, विपिन यादव, विकास कुमार, अभिषेक कुमार, राहुल कुमार, अशोक कुमार, सेंटू यादव के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है. दिए गए आवेदन में धन्नी यादव ने कहा है कि मेरा भतीजा प्रिंस को प्रमुख पति मंटू यादव ने दौड़ा कर गोली मारा है. जबकि अधिवक्ता सिकंदर यादव ने मुझे भी जान मारने के लिए गोली चलाया जो गोली बगल से निकल गया और मैं बाल-बाल बचा. पुलिस अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर सरगर्मी से सर्च अभियान चला रही है. गांव में माहौल तनावपूर्ण है लेकिन नियंत्रण में है पुलिस द्वारा गश्ती तेज कर दिया गया है.

बताते चलें की शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे गोलियों की आवाज से नारायणपुर गांव थर्रा गया. लोगों ने घर में छिपकर जान बचाया. गोली चलने पर लोग इधर उधर भागने लगे. चारों तरफ भाग दौड़ होने लगा.लोग समझ नहीं पा रहे थे कि आखिर क्या हुआ है. गोलियां चल रही है लोग भाग रहे हैं. इस बीच नारायणपुर निवासी बनारसी यादव का अठारह वर्षीय पुत्र प्रिंस कुमार को एक गोली पीठ में लगी और वह गिर पड़ा. मौके पर पहुंचे भवानीपुर पुलिस ने वाहन से पीएचसी नारायणपुर इलाज के लिए पहुंचाया.डा.विनोद कुमार ने बताया कि जख्मी को पीठ में दाहिने तरफ गोली लगी थी. जिसे प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर किया गया

गोलीबारी की घटना के विरोध में आक्रोशित ग्रामीण एवं परिजनों ने मारपीट की. घटना के मुख्य आरोपी अधिवक्ता सिकंदर यादव की गिरफ्तारी की मांग करते हुए पुलिस प्रशासन के विरोध में राजमार्ग संख्या 31 पर टायर चलाकर तीन घंटे जाम कर विरोध प्रदर्शन किया. ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस प्रमुख पति मंटू यादव को मदद कर रही है. लेकिन भवानीपुर पुलिस ने घटना के समय हीं प्रमुखपति मंटू यादव को हिरासत में ले लिया था. जाम की सूचना पर बिहपुर, झंडापुर, खरीक, नदी थाना की पुलिस सर्किल इंस्पेक्टर एनएस चौहान दल बल के साथ पहुँच नारायणपुर गांव में ताबड़तोड़ छापेमारी किया गया. जाम की सूचना पर एसडीपीओ दिलीप कुमार ने राजमार्ग जाम कर रहे लोगों से बातचीत के आश्वासन के बाद जाम हटाया. आक्रोशित ग्रामीणों ने डीएसपी को बताया की मंटू यादव तेल, गैस, पेट्रोल सहित अन्य प्रकार के कालाबाजारी का गोरखधंधा कर अकूत संपत्ति जमा कर लिया है जो राजमार्ग किनारे ही डीजल, किरोसिन के टैंकर से डीजल, किरोसिन निकालकर कालेबाजार में ऊंचे दाम पर बेचते हैं. रसोई गैस के टैंकर से भी गैस निकालकर सिलिंडर में रिफिल करके गोरखधंधा किया जाता है. गोरखधंधा की काली कमाई से मंटु यादव गांव में वर्चस्व कायम कर  चाहता है. उसने अपनी दबंगई और कालाबाजारी के कारण अपना व्यवसाय खड़ा किया है. ग्रामीणों ने एसडीपीओ से मांग किया कि पुलिस की मिलीभगत से मंटू यादव रोज तेल, गैस की कालाबाजारी का खेल कर रहा है. एसडीपीओ ने जाम कर रहे लोगों से कहा कि मंटू यादव को हिरासत में लिया गया है. आवेदन के अनुसार जो आरोपी होगा उसे जेल जाना होगा. एसडीपीओ के आश्वासन पर लोगों ने जाम को हटाया.

विवाद का क्या है कारण

तीन दिन पुर्व जेपी कॉलेज नारायणपुर में संध्या नगरपारा उत्तर पंचायत के मुखिया पुत्र अजीत कुमार और प्रमुख प्रतिनिधि मंटु यादव के चचेरे भतीजा गोलू कुमार के बीच क्रिकेट खेलने में मारपीट हुआ था. उसके सुबह ही मुखिया के पुत्र अजीत यादव को गोलू यादव, निबंध यादव ने मिलकर मध्य विद्यालय नारायणपुर में दोबारा मारपीट किया. एक घंटे बाद नारायणपुर चौक पर मुखिया का भाई साहेब यादव चाय पी रहा था. जहां गोलू, निबंध, राहुल सहित दस की संख्या में लोगों ने घेर कर लाठी डंडे से जानलेवा हमला कर साहेब यादव का हाथ तोड़ दिया और सिर पर प्रहार किया.अपने भाई के पीटने की सूचना पर मुखिया नरेंद्र कुमार जानकारी लेने के लिए घर से नारायणपुर चौक की ओर चला था कि इधर से लौट रहे लोगों ने मुखिया को भी उसी लोगों ने घेरकर कर जानलेवा हमला किया. जिसने साहेब यादव को पीटा था.इसके बाद भवानीपुर पुलिस ने निबंध कुमार व गोलू कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. घटना को लेकर दोनों पार्टी की और से लगभग बाइस लोगों को नामजद किया था. घटना के बाद नरेंद्र कुमार आत्मरक्षार्थ के लिए अपने  स्वजनों के साथ लाठी लेकर गांव में चलने लगे थे. शुक्रवार की सुबह गोलीबारी से पूरा गांव थर्रा गया है ग्रामीण लोग भयभीत है.

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News