हावड़ा-दिल्ली रेलखंड पर फिर मालगाड़ी हुई बेपटरी, त्योहारों में अपने घर लौट रहे हजारों लोग रास्ते में फंसे

हावड़ा-दिल्ली रेलखंड पर फिर मालगाड़ी हुई बेपटरी, त्योहारों में अपने घर लौट रहे हजारों लोग रास्ते में फंसे

DESK : हावड़ा-दिल्ली रूट पर एक बार फिर से एक मालगाड़ी बेपटरी हो गई है, जिसके कारण इस रूट पर ट्रेनों की आवाजाही ठप हो गई है। जहां लगभग एक माह पहले सासाराम के पास मालगाड़ी बेपटरी हुई थी, वहीं इस बार यह हादसा फतेहपुर के पास रमवां स्टेशन के पास हुआ है। घटना रविवार की सुबह की बताई गई है। सूचना मिलते रेलवे अफसरों के साथ तकनीकी टीम पहुंच गई है और राहत कार्य शुरू कर दिया है। वहीं प्रयागराज और कानपुर की तरफ से आने वाली ट्रेनों को रोक दिया गया है।

30 वैगन पटरी से उतरी, उखड़ गई पटरियां

रमवां स्टेशन के समीप रविवार की सुबह करीब 10:26 बजे मालगाड़ी अपनी गति से गुजर रही थी। कुछ दूर चलने के बाद स्टेशन के पास ही मालगाड़ी के 30 वैगन पटरी से उतर गए और पूरा ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गया। एक-दूसरे से टकराते हुए वैगन आसपास के ट्रैक पर पहुंच गए। हादसे में रेल लाइन के स्लीपर व पटरियां उखड़ गई हैं। इससे दिल्ली हावड़ा रेल रूट पर ट्रेनों का संचालन बाधित हो गया है। कानपुर और प्रयागराज में ट्रेनों को रोका जा रहा है।

वंदे भारत सहित कई ट्रेनें फंसी

हादसे के बादखाागा और प्रयागराज के बीच चौरीचौरा, महानंदा, मूरी, कालका, नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेनों को रोक दिया गया है। डाउन लाइन उधमपुर एक्सप्रेस रोकी गई है।डाउन वंदे भारत बिंदकी रोड स्टेशन में रोक दी गई है। वहीं जानकारी के बाद प्रयागराज रेलवे स्टेशन और कानपुर रेलवे स्टेशन पर रूट पर जाने वाली ट्रेनों को रोका जा रहा है।

सात घंटे लगेगा समय

कंट्रोल रूम से मिली सूचना पर रेलवे  अफसरों में खलबली मच गई और तत्काल तकनीकी स्टाफ मौके पर पहुंच गया है। रेलवे के अफसरों ने बताया कि प्रयागराज और जिला मुख्यालय से अफसर भी मौके पर गए हैं।डीआरएम मोहित चंद्रा भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं स्थानीय रेलवे प्रशासन के अफसर और ट्रैक मरम्मत के लिए टीमें भी पहुंच रही हैं। दुर्घटना के कारणों की जांच करने वाली टीम भी मौके पर पहुंच रही है। हादसे में मालगाड़ी के वैगन एक- दूसरे पर चढ गए और अप-डाउन लाइन पर पहुंच गए। इससे दोनों लाइनों की पटरियां और स्लीपर क्षतिग्रस्त हुए हैं। रेलवे अफसरों ने मालगाड़ी के वैगन और मलबा ट्रैक से हटवाना शुरू कर दिया है। रेलवे अफसरों ने छह से सात घंटे में रेल रूट बहाल होने की उम्मीद जताई है।

घर लौट रहे लोग भी फंसे

मालगाड़ी हादसे के कारण सबसे ज्यादा परेशानी उन यात्रियों को उठानी पड़ रही है, जो त्योहारों में अपने घर लौट रहे थे। अब उन्हें अपने घर पहुंचने के लिए कुछ घंटे और ट्रेन में इंतजार करना पड़ेगा।



Find Us on Facebook

Trending News