बिहार में राजनीति का नया अखाड़ा बने सरकारी बंगले... भाजपा ने सहनी के बहाने नीतीश सरकार को घेरा

बिहार में राजनीति का नया अखाड़ा बने सरकारी बंगले... भाजपा ने सहनी के बहाने नीतीश सरकार को घेरा

पटना. सरकारी बंगलों को लेकर बिहार में अचानक से सियासत गरमा गई है. राजनीति का नया अखाड़ा बन चुके सरकारी बंगलों को लेकर सत्ताधारी नीतीश सरकार पर विपक्षी दल भाजपा हमलावर है. सरकार में रहने के दौरान बड़े बड़े आलीशान बंगलों में रहने का मजा लूट रहे भाजपा नेताओं को अब न सिर्फ छोटे आवास में शिफ्ट करने का आदेश आ चुका है बल्कि जो बंगला खाली करने में लेटलतीफी कर रहे हैं उस पर जुर्माना भी लगाया गया है. 

हालांकि बंगलों को खाली कराने में सियासत भी जमकर हो रहा है. नीतीश सरकार एक ओर जहां भाजपा नेताओं पर पूरी तरह सख्त है, वहीं अपने ‘हमदर्द’ नेताओं पर मेहरबान दिखती है. इसी को लेकर भाजपा ने अब नीतीश सरकार की नीयत पर सवाल उठाया है. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने इसी मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरा है. उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार अपने ‘गुर्गे’ से बंगला क्यों नहीं खाली करवाते हैं. उनका इशारा मुकेश सहनी की ओर है जिनका मंत्री पद मार्च महीने ही जा चुका है और वे अब एमएलसी भी नहीं हैं. बावजूद इसके सहनी अब तक सरकारी बंगले में रह रहे हैं. जायसवाल ने कहा कि जिनका मंत्री पद 6 महीने पहले जा चुका है उनका बंगला खाली नहीं कराया जा रहा है. वहीं भाजपा नेताओं को लाखों रुपए का नोटिस जारी हुआ है. 

दरअसल, मुकेश सहनी को 27 मार्च 2022 को मंत्रिमंडल से हटा दिया गया था. बाद में उनका विधान परिषद का कार्यकाल भी समाप्त हो गया. बावजूद इसके मुकेश सहनी अब तक पटना के 06, स्टैंड रोड वाले बंगले में जमे हुए हैं. बंगले के बाहर मुकेश सहनी के नाम वाला नेमप्लेट भी लगा हुआ है. भाजपा और मुकेश सहनी के रिश्ते 23 मार्च 2022 को ही खराब हो गए थे जब वीआईपी के तीन विधायकों को भाजपा ने तोड़कर अपने दल में शामिल कर लिया था. अब एक बार फिर से भाजपा ने सहनी के बंगले के बहाने नीतीश पर निशाना साधा है. 

वहीं मुकेश सहनी पहले ही कह चुके हैं कि उन्हें भी बंगला करने का नोटिस आया है. उनपर जुर्माना लगाया है और वे जुर्माना भी दिए हैं. उन्होंने बंगला खाली करने के लिए एक महीने का समय मांगा है. सहनी ने जायसवाल पर बेबुनियाद और अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया. 


पूर्व उप मुख्यमंत्री रेणु देवी को बंगला खाली नहीं करने के कारण जुर्माना का नोटिस जारी हुआ है. रेणु देवी ने रविवार को इसे लेकर राज्य के आवास मंत्री अशोक चौधरी को खूब सुनाया. उन्होंने नीतीश सरकार पर ज्यादती करने की बात कही. रेणु देवी का कहना है कि उन्हें अब तक नया सरकारी आवास नहीं मिला है लेकिन उनसे बंगला खाली कराया जा रहा है. इसी तरह तारकिशोर प्रसाद भी बंगला में बने हुए हैं. उनके बंगले को खाली करने को लेकर भी बवाल मचा हुआ है. 


Find Us on Facebook

Trending News