सरकारी व्यवस्था! RTPS काउंटर पर दलालों की कट रही है चांदी, अपनी बारी आने के इंतजार में लाइन में खड़े रह जाते हैं लोग

सरकारी व्यवस्था! RTPS काउंटर पर दलालों की कट रही है चांदी, अपनी बारी आने के इंतजार में लाइन में खड़े रह जाते हैं लोग

SUPAUL : जिले के त्रिवेणीगंज प्रखंड के आरटीपीएस काउंटर पर दलालों की चांदी कट रही हैं. दूर-दराज से आई सैकड़ों महिलाएं लाइन में लगी रह जाती हैं, और दलाल रूपये देकर अपने काम को असानी से निपटा लेते हैं. कई महिलाएं सुबह छह बजे ही प्रखंड कार्यालय पहुँचकर आरटीपीएस काउंटर पर कतार में खड़ी हो जा रही हैं. ताकि उन्हें भीड़ का सामना नहीX करना पड़े और आसानी हो. सुबह छह-सात बजे आने के बावजूद महिलाओं एवं पुरुषों को परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं. कई हिदायतों के बावजूद दलालों की कमी नही हैं. 

डाटा ऑपरेटर देवराज कुमार अपने सहयोगी अनमोल कुमार सरदार को बगल में बैठा कर सरेआम रुपये वसूले जा रहे हैं. दलालों की ये हरकत लम्बे समय से चलती आ रही हैं. कई बार साक्ष्य सामने आने के बावजूद स्थानीय पदाधिकारी कार्रवाई करने ने विफल हैं. हैरानी की बात यह हैं कि प्रखंड कार्यालय में आधा दर्जन से अधिक दलाल घूम रहे हैं। 

चाय के दुकान पर होता है लेन-देन का काम

जो लाभुकों को बहला फुसलाकर चाय की दूकान पर बुलाते है. जहां दो सौ से पांच सौ रूपये में कन्या दान, जन्म प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र ,पेंशन, राशन कार्ड ऑनलाइन, जैसे अन्य प्रमाण पत्र बनवाने का झांसा देकर उनसे रुपये ऐंठते हैं. जबकि पिछले महीने वही देवराज कुमार डाटा ऑपरेटर अवैध उगाही करने को लेकर खबर भी प्रकाशित किया गया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिस काउंटर का रक्षक ही भक्षक बन जाए उससे लोग उमीद ही क्या लगाएंगे. दलाल इस तरह से पनप रहे है, कि धड़ल्ले से कहते हैं  कि 200 रुपया दो। रूपया तो जल्दी बन जायेगा।


पैसे नहीं दिए तो नहीं होगा काम

अगर भूलवश कोई बिना चढ़ावा के अपने काम के लिए लाइन में लगते हैं तो उन्हें डाटा ऑपरेटर देवराज कुमार के द्वारा वेबसाइट काम नहीं करने का बहाना बनाकर टाल देते। फिर विवश होकर लोग थक हार कर चढ़ावा देकर अपना काम कराते हैं। अजीब बात यह हैं कि कार्यालय के ऑफिसियल वेबसाइट अगल बगल के दुकानदार भी यूज़ करते हैं।  सूत्रों का कहना है कि प्रखंड कार्यालय में काम करने वाले कर्मी पूरी तरह भ्र्ष्टाचार में लिप्त हैं. इसपर लगाम लगाने में भी स्थानीय प्रशाशन पूरी तरह विफल हैं. 

इस बात का खुलासा लतौना निवासी  शिवो यादव ने की है। उन्होंने बताया कि बिना चढ़ावा दिए कोई काम त्रिवेणीगंज प्रखंड कार्यालय में नहीं होता। इस बाबत त्रिवेणीगंज प्रखंड विकास पदाधिकारी आशा कुमारी से फोन से संपर्क कर पूछने का प्रयास किया लेकिन दो बार फोन लगने के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी फोन रिसीव नहीं किया । अब देखना हैं प्रशाशन कार्रवाई करती हैं या नही।

Find Us on Facebook

Trending News