बांग्लादेश में दुर्गापूजा के दौरान हुई हिंसा पर दोनों देश की सरकारें सख्त, पढ़ें PM शेख हसीना पीएम और विदेश मंत्रालय का रिएक्शन

बांग्लादेश में दुर्गापूजा के दौरान हुई हिंसा पर दोनों देश की सरकारें सख्त, पढ़ें PM शेख हसीना पीएम और विदेश मंत्रालय का रिएक्शन

N4N DESK: भारत के पड़ोसी राज्य बांग्लादेश में हिंदू धर्मावलंबियों द्वारा धूमधाम से दुर्गापूजा मनाया जा रहा था। यहां खुशी और उत्सव का माहौल गुरूवार से पहले तक ही रहा। दरअसल, पूजा के नौवें दिन एक फ़ेसबुक पोस्ट के कारण पहले अफवाह और हिंसा भड़की, जिसका शिकार वहां रहने वाले हिंदू बने। हिंसा के बाद कई दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ हुई है और कम से कम 150 अल्पसंख्यक परिवारों पर हमले हुए हैं। अधिकारियों ने तीन लोगों की मौत की पुष्टि की है।

एक अफवाह ने भड़काई नफरत की आग

मामला बांग्लादेश के कोमिल्ला ज़िले का है। जहां पूजा पंडाल में क़ुरान के कथित अपमान की अफ़वाह के बाद हिंसा भड़क उठी। जिसके बाद इलाक़े में भारी तादाद में सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक, हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई है और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। पुलिस ने कई हिंदू मंदिरों, घरों और दुकानों में तोड़फोड़ के संबंध में दर्ज मामले में अभी तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

क्षेत्र में पहली बार दर्ज की गई सांप्रदायिक हिंसा

इस मामले में स्थानीय समुदाय के नेताओं का कहना है कि क्षेत्र में पहली बार इस तरह की सांप्रदायिक हिंसा की घटना हुई है। वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबिक़, बांग्लादेश की 14.9 करोड़ की आबादी में करीब 8.5 फ़ीसदी हिंदू हैं। कोमिल्ला ज़िला समेत वहां के कई और ज़िलों में हिंदू समुदाय के लोगों की बड़ी आबादी है।

बांग्लादेश की पीएम और गृहमंत्री का रिएक्शन

बांग्लादेश मीडिया के मुताबिक, पीएम शेख हसीना ने कहा है कि कमिला शहर में दुर्गा पूजा के दौरान हुई हिंसा के पीछे लोगों को जल्द ही टारगेट किया जाएगा और इस तरह के सांप्रदायिक कृत्यों की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए "उचित दंड" दिया जाएगा।

बांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमान ने स्थानीय मीडिया से बातचीत में कहा है कि सरकार इस घटना को गंभीरता से ले रही है। उनका कहना था, "कोमिल्ला में हमला करने वालों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा. यह हमला हिंसा भड़काने की साज़िश का हिस्सा हो सकता है।" 

भारतीय विदेश मंत्रालय का रिएक्शन

इस मामले पर देर शाम भारतीय विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया सामने आई है। विदेश मंत्रालय की तरफ से को कहा गया है कि उन्होंने इस बात पर गौर किया कि पड़ोसी मुल्क ने इस घटना के बाद गंभीरता से एक्शन लिया और हालात को काबू किया। भारतीय मिशन इस मामले को लेकर बांग्लादेशी अथॉरिटी के साथ लगातार संपर्क में है। प्रवक्ता अरिंदम बाग्ची ने कहा ‘हमने कुछ परेशान करने वाली खबरें देखी हैं। जिसमें बांग्लादेश में कुछ धार्मिक स्थलों पर हमला करने की घटनाएं हुई हैं। हमने यह बात नोटिस किया कि बांग्लदेशी सरकार ने हालात को काबू करने के लिए तुरंत जरुरी कार्रवाई की है। हम इस बात को भी समझते हैं कि वहां दुर्गा पूजा त्योहार सरकारी एजेंसियों और बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों के सहयोग की वजह से हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है’।

Find Us on Facebook

Trending News