अपने 'सम्राट' को भूल गई भाजपा ? BJP के बैनर-पोस्टर से आउट हुए विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष, चर्चाओं का बाजार गर्म

अपने 'सम्राट' को भूल गई भाजपा ? BJP के बैनर-पोस्टर से आउट हुए विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष, चर्चाओं का बाजार गर्म

PATNA:  बिहार में भाजपा से सत्ता छीन गई है। नीतीश कुमार ने भाजपा को सत्ता से बेदखल कर तेजस्वी यादव से हाथ मिला लिया। 77 विधायकों वाली बीजेपी अब विपक्ष की भूमिका में आ गई है। विपक्ष में बैठते ही भारतीय जनता पार्टी ने काफी समझ बूझ और सामाजिक समीकरण को ध्यान में ऱख, विधान परिषद और विधानसभा में विरोधी दल के नेता का चुनाव किया। एक सदन में अपर कास्ट को जबकि दूसरे सदन पिछड़े समाज के नेता को विरोधी दल के नेता की जिम्मेदारी दी गई।इस तरह से नेतृत्व ने दोनों नेताओं को बिहार का चेहरा बना दिया। इन चेहरों के माध्यम से बिहार बीजेपी ने मैसेज देने की कोशिश की थी कि पार्टी सभी समाज को उचित प्रतिनिधित्व देती है. लेकिन चेहरा घोषित करने के महीने भर के भीतर ही भाजपा के पोस्टर से एक चेहरा गायब दिख रहा है। बिहार के लोगों ने अब तक देखा है कि जब बीजेपी कोटे से दो-दो डिप्टी सीएम थे,तब दोनों की तस्वीर पार्टी के पोस्टरों में दिखती थी। लेकिन विपक्ष में आने के बाद भाजपा ने अध्यक्ष के अलावे सिर्फ विधानमंडल दल के नेता को ही पोस्टर में जगह दी है। विधान परिषद में नेता विरोधी दल को पोस्टर से अलग कर दिया गया है। 

बीजेपी ने 'विजय' और 'सम्राट' को बनाया था चेहरा

विपक्ष मे आने के बाद बीजेपी नेतृत्व ने पूर्व विस अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी। इसके अलावे उपरी सदन यानि विधान परिषद में पूर्व मंत्री सम्राट चौधरी को नेता विरोधी दल बनाया गया। विपक्ष के नाते भारतीय जनता पार्टी बिहार में लगातार नीतीश सरकार को घेर रही है। पार्टी की तरफ से कई कार्यक्रम भी आयोजित किये जा रहे हैं. 23-24 सितंबर को अमित शाह भी बिहार आ रहे हैं। पीएम मोदी के जन्मदिन पर सेवा पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश कार्यालय में रक्तदान शिविर से लेकर प्रदर्शनी आयोजित की गई। रविवार को कोर कमिटी की बैठक भी आयोजित की गई। इन कार्यक्रमों में सबसे खास बात यह रही कि अब पूर्व डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद व रेणु देवी को पोस्टर से हटा दिया गया है। अब पोस्टरों में प्रदेश अध्यक्ष के अलावे केवल एक चेहरा को जगह मिली है,वो हैं विधानमंडल दल के नेता विजय कुमार सिन्हा। पोस्टर में विधान परिषद में नेता विरोधी दल सम्राट चौधरी को जगह नहीं दी गई है। सभी पोस्टरों से सम्राट चौधरी गायब दिखे।

'सम्राट' को भूल गई भाजपा ? 

बिहार बीजेपी के पोस्टरों में पीएम मोदी के अलावे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा हैं. बिहार से प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल और विधानसभा में नेता विरोधी दल विजय कुमार सिन्हा दिख रहे हैं। ऊपरी सदन य़ानि विप में विरोधी दल के नेता सम्राट चौधरी को भाजपा ने महीने भर के अंदर ही भूला दिया। यह चर्चा पार्टी के भीतर भी है। पार्टी के कई विधायकों का मानना है कि दल के पोस्टर में उनको जगह मिलनी चाहिए थी। वे पिछड़ा समाज(कुशवाहा) के बड़े नेता हैं। उनकी अच्छी पकड़ है। अब सम्राट चौधरी को दल के पोस्टर में क्यों जगह नहीं मिली इस पर पार्टी के नेता खुलकर नहीं हो रहे। कई विधायकों ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर कहा कि पार्टी का यह फैसला उचित नहीं हैं,इससे पिछड़े-अतिपिछड़े समाज में असंतोष पनपेगा।   

तस्वीर देखें...

  

Find Us on Facebook

Trending News