विधायकों को आवास मुहैया कराने को लेकर विस अध्यक्ष की हाईलेवल मीटिंग, अफसरों की कार्य प्रणाली से नाराज हुए स्पीकर

विधायकों को आवास मुहैया कराने को लेकर विस अध्यक्ष की हाईलेवल मीटिंग, अफसरों की कार्य प्रणाली से नाराज हुए स्पीकर

PATNA: बिहार के विधायक सरकारी आवास को लेकर दौड़ लगा रहे लेकिन अब भी करीब 100 से अधिक विधायकों को आवास नहीं मिल सका है। माननीयों के आवास उपलब्ध कराने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने आज हाईलेवल मीटिंग की। विधानसभा अध्यक्ष ने भवन निर्माण विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किये। निरीक्षण और आदेश के बाद बी काम में कोई प्रगति नहीं होने पर विस अध्यक्ष विजय सिन्हा ने नाराजगी जताई।   

62 विधायकों को बहुत जल्द मिलेंगे आवास

बिहार विधानमंडल सदस्यों के आवासन योजना के तहत पटना में बन रहे आवासों में 62 वैसे फ्लैट्स जिनमें बहुत कम काम ही शेष रह गये हैं, को यथाशीघ्र विभागीय स्तर या काॅंट्रैक्टर से कराकर सभा सचिवालय को उपलब्ध कराने का निदेश भवन निर्माण विभाग को दिया गया। आवास तैयार होने के बाद 62 सदस्यों को आवास आवंटन किया जा सके। उन्होंने इस संबंध में 04 जनवरी, 2021 को हुई बैठक तथा स्थल निरीक्षण के बाद इस दिशा में किसी तरह की प्रगति नहीं होेने पर अपनी नाराजगी व्यक्त की ।

विप पुल के 30 आवास भवन निर्माण विभाग में होंगे स्थानांतरित

 उन्होंने विधान परिषद् सचिवालय पुल के पास विधान पार्षदों के अतिरिक्त 30 आवासों को भवन निर्माण विभाग में हस्तांतरित कर इसे सभा सचिवालय को उपलब्ध कराने का निदेश भवन निर्माण विभाग को दिया.इस पर कार्यकारी सभापति, बिहार विधान परिषद् ने भी अपनी सहमति जतायी. पटना के कंकड़बाग स्थित बहादुरपुर के आवास बोर्ड के 10 फ्लैटों को भी सुसज्जित कर यथाशीघ्र सभा सचिवालय को उपलब्ध कराने तथा दारोगा राय पथ में विधायक आवासों को सुसज्जित करने का निदेश दिया । 

विधायकों के आवास मरम्मति को लेकर एजेंसी चयन का निर्देश

विस सभा सचिवालय द्वारा आवास आवंटन के पश्चात प्रभार लेने वाले 16 माननीय सदस्यों द्वारा इन आवासों के मरम्मति का अनुरोध किया गया है। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि भवन निर्माण विभाग इन आवासों की मरम्मति 15 दिनों के अंदर कर सूचित करे तथा इससे संबंधित प्रतिवेदन मंत्री, भवन निर्माण विभाग को भी उपलब्ध कराये.सदस्यों के आवास मरम्मति में आने वाली व्यवहारिक परेशानियों को देखते हुए उन्होंने व्यापक अनुरक्षण नीति बनाने और 5 साल के लिए मरम्मति हेतु एक एजेंसी चयन का निर्देश दिया।सदस्यों के जर्जर आवासों को चिन्हित कर प्राथमिकता के आधार पर उनका जीर्णोद्धार कराया जाना चाहिए । उन्होंने स्थल अध्ययन यात्रा पर बिहार आने वाली अन्य राज्य विधान सभाओं की समितियों तथा अन्य महानुभावों के आवासन के लिए बेली रोड स्थित हड़ताली मोड़ पर अवस्थित 10 फ्लैट्स को सुसज्जित कर सभा सचिवालय को उपलब्ध कराने का निदेश दिया।बिहार विधान सभा की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता बनाने के लिए स्थान की पहचान कर वाॅच टाॅवर बनाने, रिशेप्सन कक्ष बनाने के साथ-साथ बिहार विधान सभा भवन को बिहार की लोकतांत्रिक व्यवस्था का गौरव बताते हुए सचिवालय के मुख्य भवन में लाईटिंग की व्यवस्था करने का निदेश दिया । 

                       

  

Find Us on Facebook

Trending News