कुतों के झुंड से छुड़ा दो हिरण को ग्रामीणों ने किया वन विभाग को सुपुर्द

कुतों के झुंड से छुड़ा दो हिरण को ग्रामीणों ने किया वन विभाग को सुपुर्द

 बगहा। बुधवार को भी एक हिरण ठकराहा नौका टोला के पास भागता हुआ आया उसके पीछे भी कुते पड़े थे। ग्रामीणों ने कुतो के झुंड से हिरन को छुड़ाया पर कुतो ने हिरन को काफी जख्मी कर दिया था। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी स्थानीय पुलिस को दी। संवाद प्रेषण तक दूसरा जख्मी हिरण ग्रामीणों के पास पड़ा था। जबकि पहले हिरण को पुलिस ने वन विभाग को सुपुर्द कर दिया था। ग्रामीणों का कहना है कि इन दिनों वन से भटक कर दियारे में विचरण कर रहे जंगली जीव सुरक्षित नहीं दिख रहे है। आए दिन हिरण कुतो के शिकार हो रहे है।

मंगलवार संध्या पहर ठकराहा में कुतो के झुंड से जिम्मा छुड़ाता एक हिरण जीएमयू उच्च विद्यालय के प्रांगण में घुसा। जख्मी हिरण के पीछे लगे कुतो के झुंड को देख स्थानीय ग्रामीणों ने कुतो को भगा कर हिरन को सुरक्षित कर लिया। तथा जख्म पर प्राथमिक उपचार करते हुए स्थानीय थाना को सूचना दी। सूचना पाकर ठकराहा थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने स्वयं पहुच हिरन को अपने कब्जे में ले थाना लाया। तथा वन विभाग को इसकी सूचना दी।

वन क्षेत्र से भटक कर ठकराहा के दियारे में विचरण कर रहे वन्य जीव भी सुरक्षित नहीं। वन विभाग भी उनका संज्ञान नहीं ले रहा है। आए दिन कु्त्तों के झुंड का शिकार हो रहे हिरण।  वाल्मीकिनगर जंगल से सटे गंडक नदी की धाराओं में बह कर गंडक नदी के दियारा में के दो धाराओं में पंहुचे वन्य जीव जंगली सूअर, बकरा व हिरन काफी संख्या में विचरण करते हैं। दियारे से भटक कर गावो के पास सरेहो तक पहुचते ही वन्य जीव या तो शिकारियों के हत्थे चढ़ जाते या कुतो के शिकार बन जाते है।

Find Us on Facebook

Trending News