दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन का शुभारंभ, अमित शाह बोले- मुझे गुजराती से ज्यादा हिंदी पसंद है

दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन का शुभारंभ, अमित शाह बोले- मुझे गुजराती से ज्यादा हिंदी पसंद है

लखनऊ. राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय की ओर से दो दिवसीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन 13 नवम्बर से शुरू हुआ. दीन दयाल हस्तकला संकुल, बड़ालालपुर में इस सम्मेलन का शुभारंभ गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन को राजधानी दिल्ली से बाहर करने का निर्णय हमने वर्ष 2019 में ही कर लिया था. कोरोना काल की वजह से हम नहीं कर पाएं, लेकिन आज मुझे खुशी हो रही है कि ये नई शुरुआत आजादी के अमृत महोत्सव में होने जा रही है.

अमित शाह ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत में देश के सभी लोगों का आह्वान करना चाहता हूं कि स्वभाषा के लिए हमारा एक लक्ष्य जो छूट गया था, हम उसका स्मरण करें और उसे अपने जीवन का हिस्सा बनाएं. हिंदी और हमारी सभी स्थानीय भाषाओं के बीच कोई अंतर्विरोध नहीं है. उन्होंने कहा कि मुझे गुजराती से ज्यादा हिंदी भाषा पसंद है. हमें अपनी राजभाषा को मजबूत करने की जरूरत है.

इस कार्यक्रम में गृह एवं सहकारिता मंत्री के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, निशिथ प्रमाणिक और सांसदगण, सचिव राजभाषा, सयुंक्त सचिव राजभाषा सहित पूरे देश के अलग-अलग राज्यों से आए विद्वान इसमें उपस्थित रहें.


Find Us on Facebook

Trending News