हैवानियत : नौंवी कक्षा के छात्र को पहले आग में झौंका, फिर बालकनी से नीचे फेंक दिया, घायल के बयान पर जांच में जुटी पुलिस

हैवानियत : नौंवी कक्षा के छात्र को पहले आग में झौंका, फिर बालकनी से नीचे फेंक दिया, घायल के बयान पर जांच में जुटी पुलिस

MUZAFFARPUR : जिले के अहियापुर थाना क्षेत्र में नौंवी कक्षा के एक छात्र को आग में जलाने की कोशिश का मामला सामने आया है। 60 फीसदी से अधिक झुलस चुके छात्र का कांटी के सदातपुर स्थित निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई जा रही है।  पुलिस ने उसकी पहचानसर सैयद कॉलोनी निवासी फुरकान अली (14) के रूप में की है। को जिंदा जला देने की घटना सामने आयी है। उसने कांटी पुलिस को बयान दिया है। इस आधार पर शुक्रवार को अहियापुर थाने में कॉलोनी के ही चार युवकों अयान खान, फवाद इकबाल, फैजान उर्फ फैजू अहमद व असजद हसन के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

बीते 10 सितंबर की है घटना

अपने बयान में फुरकान ने बताया कि घटना 10 सितंबर की है। दोपहर डेढ़ बजे चारों आरोपित उसके घर आ धमके। उसे बुलाकर एक बंद मकान में ले गए। मकान के ऊपरी तले पर ले जाकर आरोपितों ने पहले उसे चादर में लपेटकर पीटा। घायल ने बताया बुरी तरह के पिटने के बाद उन्होंने उस चादर में आग लगाकर बॉलकनी से धक्का देकर गिरा दिया। वह बेहोशी की हालत में बॉलकनी में ही फंसा रहा। कुछ देर बाद मोहल्ले के ही एक अन्य युवक ने उसे बाइक से ले जाकर अस्पताल में भर्ती कराया। इसकी सूचना पर उसके परिजन भी अस्पताल पहुंचे। फुरकान ने आरोप लगाया कि उसे पहले भी जान से मारने की धमकी दी गई थी।

घटना का कारण स्पष्ट नहीं, मौके की जांच में जुटी पुलिस

वहीं, अहियापुर थानेदार विजय कुमार सिंह ने बताया कि कांटी थाने से मिले फर्द बयान पर एफआईआर कर ली गई है। घटना की वजह स्पष्ट नहीं है। झुलसे छात्र के पिता शहनवाज अली ने बताया कि वह स्टील प्लांट में जॉब करते हैं। घटना के समय दूसरे राज्य में थे। जिस मकान में घटना हुई है, उसके मालिक का सत्यापन करने में पुलिस जुटी है।

वहीं छात्र के परिजनों ने पुलिस को बताया है कि इलाके में कई गलत धंधे करने वाले लोग हैं। आशंका है कि फुरकान ने आरोपित युवकों को कुछ गलत करते देख लिया होगा। इस वजह से उसकी हत्या की साजिश रची व घटना को अंजाम दिया।

Find Us on Facebook

Trending News