पटना में पति ने पत्नी और उसके प्रेमी का किया अपहरण, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

पटना में पति ने पत्नी और उसके प्रेमी का किया अपहरण, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

PATNA : पटना से मसौढ़ी में पैसे के लिए अपहरण का मामला झूठा निकला। मामला मसौढ़ी थाना क्षेत्र से जुड़ा हुआ है जहां एक युवक का दिनदहाड़े कोर्ट परिसर के बाहर से अपहरण कर लिया गया। उसके बाद उसके पिता से अपहरणकर्ताओं द्वारा एक लाख की फिरौती की मांग की गयी। जैसे ही अपहृत युवक के पिता को फोन पर अज्ञात लोगों द्वारा एक लाख रूपये देने की एवज में बेटे की रिहाई की बात कही गयी। पिता हड़बड़ा कर मसौढ़ी थाने पहुंच पूरे मामले की जानकारी पुलिस को देते हैं। पिता की शिकायत पर मसौढ़ी थाना अध्यक्ष रंजीत रजक त्वरित कार्रवाई करते हुए अपहरणकर्ताओं के द्वारा फोन किए गए स्थान पर पीड़ित व्यक्ति को लेकर पहुंचे।जब पुलिस अपने बिछाए गए जाल द्वारा अपहरणकर्ताओं के पास पहुंची तो अपहरण की पीछे की वजह जानकर सभी दंग रह गए। दरअसल अपहरण का जो पूरा मामला पीड़ित पिता के द्वारा पुलिस को बताई गई थी। वह पूरी तरह से झूठ निकली। दरअसल पूरा मामला प्रेम प्रसंग का बताया जाता है ,जहां अपहृत युवक का संबंध अपहरण करने वाले युवक की पत्नी के साथ बताया जाता है। 

आपको बता दें कि अपहरण करने वाला युवक चंदन कुमार विक्रम थाना क्षेत्र के महजपुरा गांव का निवासी है। जिसकी शादी मसौढ़ी अनुमंडल के धनरूआ थाना क्षेत्र के बरनी निवासी संजू देवी के साथ पूरे  हिंदू रीति रिवाज के साथ हुई थी। शादी के बाद चंदन कुमार और संजू देवी का एक पुत्र भी हुआ था। शादी के बाद संजू देवी का अक्सर आना जाना मसौढ़ी थाना क्षेत्र के निशियामा गांव में अपने बुआ के घर में हुआ करता था। बुआ के घर पर आने जाने के क्रम में उसका संपर्क गांव के ही पंकज कुमार के साथ  हुआ था। धीरे-धीरे यह मुलाकात कब प्रेम प्रसंग में बदल गया, यह किसी को पता ही नहीं चला। प्यार भी ऐसा की संजू देवी ने अपने पहले पति को छोड़ अपने प्रेमी के संग भागने का मन बना लिया। बस फिर क्या था मौका देख कर वह अपने प्रेमी पंकज कुमार के साथ फरार हो गई। 

भागने के क्रम में वह अपने साथ अपने शादी में उपहार के रूप में मिले गहनों को भी अपने साथ लेकर चली गई थी। जिस दिन से वह अपने प्रेमी के साथ फरार हुई। उस दिन से सूचना के बाद उसका पति चंदन कुमार उसको ढूंढने में लगा हुआ था। जैसे ही चंदन कुमार को यह सूचना मिली की उसकी पत्नी अपने प्रेमी के साथ मसौढ़ी व्यवहार न्यायालय पहुंची है, वह अपने कुछ दोस्तों के साथ स्कॉर्पियो गाड़ी से व्यवहार न्यायालय के बाहर उसका इंतजार करने लगा । जैसे ही संजू देवी व्यवहार न्यायालय से बाहर अपने प्रेमी के साथ निकली। वैसे ही चंदन कुमार ने अपने दोस्तों संग मिल कर उन दोनों को वहां से अपने गाड़ी में बैठा किडनैप कर कर अपने साथ अपने गांव लेकर चला गया। गांव पहुंचने के बाद उन लोगों ने अपहृत युवक पंकज कुमार के पिता दल्लू रविदास को फोन कर कर यह कहा कि हमने तुम्हारे बेटे का अपहरण कर लिया है और अगर तुम अपने बेटे की सलामती चाहते हो तो एक लाख लेकर हमारे बताए गए पते पर आ जाओ नहीं तो अंजाम बुरा होगा। 

अपहरणकर्ताओं द्वारा फोन पर यह जानकारी पा पंकज कुमार के पिता पूरी तरह से सदमें में आ गए। पूरे घटना की जानकारी मसौढ़ी पुलिस को दी। जिसके बाद मसौढ़ी पुलिस ने नौबतपुर थाना और विक्रम थाना के सहयोग से अपहृत युवक पंकज कुमार को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया। साथ ही अपहरण में शामिल तीनों युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया। पूरे मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस आगे की करवाई करने में जुटी हुई है।

पटना से सुजीत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News