सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में इलाज के नाम पर चल रहा है किडनी निकालने का अवैध धंधा, पीड़ित ने लगाया बड़ा आरोप

सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में इलाज के नाम पर चल रहा है किडनी निकालने का अवैध धंधा, पीड़ित ने लगाया बड़ा आरोप

BHAGALPUR : शहर में सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में इलाज के नाम पर किडनी निकालने का धंधा चल रहा है। यह आरोप इस अस्पताल में इलाज कराने के लिए गए एक मरीज के परिजनों ने लगाया है। परिजनों  की मानें तो स्टोन का ऑपरेशन करने के नाम पर मरीज की किडनी निकाल गई, जिसके कारण उसकी हालत बिगड़ गई और बाद में उसकी मौत हो गई

मामला तिलकामांझी अवस्थित आर पी एस मेमोरियल सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल से जुड़ा है। जहां के डॉक्टर गौतम कुमार के ऊपर भी परिजनों ने गंभीर आरोप लगाते हुए किडनी निकालकर हत्या का  आरोप लगाया है। वहीं गोघटटा  का मोहनपुर मथुरापुर का रहने वाला मृत 36 वर्षीय  प्रकाश मंडल के परिजनों ने बताया की उक्त मरीज को कुछ समय पूर्व से पीठ में दर्द हो रहा था।वही जब गौतम कुमार से इलाज कराने के लिए  पिछले 30  अगस्त को दिखाने लाया गया तो डॉक्टर ने बताया कि उनके पेट में स्टोन है। वहीं स्टोन का इलाज लेजर मशीन के द्वारा कर दिया जाएगा इसमें कट करने की जरूरत नहीं  पड़ेगी। 

इसके लिए मरीजों के परिजन से कुल 48000 रुपए लगने की बात कही गई थी। वही परिजनों ने कुल रुपया जमा कराकर ऑपरेशन करवाया। वहीं लेजर मशीन से ऑपरेशन नही करके डॉक्टर ने सर्जीकल ऑपरेशन किया और मरीज की स्थिति बिगड़ते बिगड़ते उसने दम तोड़ दिया। परिजनों का साफ तौर पर कहना है कि हमारे पेशेंट किडनी निकाल लिया गया है जिससे उसकी मौत हुई है जब पेशेंट की मृत्यु हो गई तब उसे रेफर कर ग्लोकल हॉस्पिटल भेज दिया गया वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया । उनकी पत्नी और परिजनों का कहना है हमें इंसाफ चाहिए और वहीं परिजनों का कहना हो रहा है कि डॉक्टर को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए 

बता दे कि प्रकाश मंडल मछली का व्यवसाय किया  करता था  मृतक   की शादी 15 वर्ष पूर्व हुई थी।मृतक को चार बच्ची भी है। वहीं मृतक प्रकाश मंडल की पत्नी अनिता देवी रो रो कर एक ही बात बोल रही थी की चारों बच्ची का देखभाल अब कैसे होगा। वही घरवालों का रो रो कर बुरा हाल है। उनकी पत्नी और परिजनों ने मुआवजे की मांग की है। 

अस्पताल बंद कर सभी भागे, फोन भी बंद

वहीं इस घटना के सामने आने के बाद विवाद बढ़ने की संभावना को देखते हुए डॉक्टर के अस्पताल में जब उनके नंबर पर कॉल किया गया तो नंबर स्विच ऑफ बताया साथ ही तिलकामांझी अवस्थित आर पी एस मेमोरियल सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल भी सुबह से लगातार बंद है।

जिले मे चल रहा मौत का धंधा

जिले में इलाज के नाम पर मौत का धंधा चलाने का यह इकलौता मामला नहीं है। पिछले कुछ दिनों दूसरे अस्पतालों में भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ दिन पहले बीके जायसवाल के अस्पताल में एक मरीज की मौत हुई थी, जिसमें परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया था। अब ऐसी दूसरी घटना सामने के बाद निजी अस्पतालों में हो रहे इलाज को लेकर जांच की मांग तेज होने लगी है। 


Find Us on Facebook

Trending News