बिहार में दूसरे बड़े सरकारी अस्पताल में फर्जी नर्स और पारा मेडिकल से लिया जाता है काम, इस तरह सच आया सामने

बिहार में दूसरे बड़े सरकारी अस्पताल में फर्जी नर्स और पारा मेडिकल से लिया जाता है काम, इस तरह सच आया सामने

PATNA : बिहार के दूसरे सबसे बड़े अस्पताल एनएमसीएच में इलाज कराने के दौरान इस बात की पड़ताल अवश्य कर लें कि यहां नर्सिंग स्टाफ हैं, वह फर्जी है या नियमित रूप से नियुक्ति की गई है। इस बात का खुलासा खुद यहां के प्रबंधन ने कि यहा लगभग एक दर्जन के करीब नर्स और पारा मेडिकल स्टाफ न सिर्फ फर्जी तरीके से काम कर रहे थे, बल्कि वह मरीजों का इलाज भी कर रहे थे। 

6 नर्स और 5 पारा मेडिकल कर्मी फर्जी

एनएमसीएच के सिक्यूरिटी अधिकारी रिटायर्ड कैप्टन नरेंद्र कुमार ने कहा कि अस्पताल प्रवंधन द्वारा सूचना मिली थी,की फर्जी तरीके से कुछ नर्स और पारा मेडिकल स्टाफ अस्पताल में मरीजों के साथ गलत तरीके से ईलाज कर रहे है।जब इस बात को गम्भीरता लिया तो आज मौके पर 6 नर्स और 5 पारा मेडिकल का छात्र को मरीज का इलाज करते पकड़े गये। उन्होंने बताया कि जब उनसे प्रमाण पत्र की मांग की गई, तो वह संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए।

वहीं फर्जी नर्स पकड़ाने की खबर आग की तरह फैल गई,नर्स क्वाटर में अफरा-तफरी मच गई। कैप्टन नरेंद्र कुमार ने बताया कि अस्पताल में पहली गलती को माफ कर उनलोगों से माफीनामा लेकर बॉण्ड पर छोड़ा गया है। पुनः पकड़े जाने पर उनपर कानूनी कार्रवाई होगी।

Find Us on Facebook

Trending News