मुजफ्फरपुर जेल में महिला कैदियों को शारीरिक संबंध बनाने के लिए किया जाता है मजबूर, तेजस्वी ने लगा दिया बड़ा आरोप

मुजफ्फरपुर जेल में महिला कैदियों को शारीरिक संबंध बनाने के लिए किया जाता है मजबूर, तेजस्वी ने लगा दिया बड़ा आरोप

PATNA : महिलाओं के साथ यौन शोषण को लेकर मुजफ्फरपुर फिर चर्चा में आ गया है। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर जेल के बारे में आरोप लगाया कि वहां महिला कैदी का यौन शोषण होता है। उन्होंने कहा कि वहां की एक महिला कैदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी( Prime Minister Narendra Modi) को पत्र लिखकर जेल का हाल बताया है। पत्र में कहा गया है कि जेल के अंदर महिलाओं से शारीरिक संबंध बनाया जाता है। अगर महिला बंदी इसका विरोध करती है, तो प्रताड़ित किया जाता है और उन्हें भूखा रह जाता है।

तीन साल पुराने मामले को किया ताजा

दरअसल, तेजस्वी यादव ने जेल को लेकर जो बातें कहीं है, वह तीन साल पहले की घटना से जुड़ी हुई है। करीब तीन साल पहले मुजफ्फरपुर के शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारागार की एक महिला बंदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भेजकर जेल में यौन शोषण होने की शिकायत की थी। पीएम को लिखे पत्र में महिला बंदी ने कहा था कि जेल में महिला बंदियों को शारीरिक संबंध बनाने को मजबूर किया जाता है. पदाधिकारियों और राइटर (बंदी) से संबंध नहीं बनाने पर पीटा जाता है और जो समर्पण कर देतीं हैं, उन्हें मोबाइल से बात करने समेत अन्य सुविधाएं दी जाती हैं.

लेटर में लिखा गया था कि सभी कैदियों को शाम 6 बजे अंदर कर दिया जाता है मगर, राइटर को देर रात तक बाहर रहने की छूट है. वो देर रात महिला खंड में आते हैं. उनके साथ महिला बंदी को देर रात बाहर भेज दिया जाता है, इसके बाद उसका शारीरिक शोषण किया जाता है.

तीन महिला सिपाहियों का जिक्र

पत्र में जेल की तीन महिला सिपाहियों के नाम का जिक्र किया गया था, कहा गया था कि 4 मार्च को इनमें से एक महिला सिपाही ने उसकी बेटी को जेल के पदाधिकारी के साथ संबंध बनाने का दबाव डाला और विरोध करने पर इतनी पिटाई की कि वह बेहोश हो गई थी.

महिला आयोग ने की थी जांच

इस लेटर को पीएमओ ने गंभीरता से लिया था। जिसके बाद बिहार राज्य महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लेते हुए जेल में जाकर जांच करने और दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की थी। अब तीन साल बाद इस लेटर का जिक्र कर तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से महिलाओं के साथ होनेवाले अत्याचार को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है।



Find Us on Facebook

Trending News