बोरा बिक्री मामले में कटिहार के एक शिक्षक को सस्पेंड किए जाने के विरोध में शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ काटा बवाल, निकाला प्रतिरोध मार्च

बोरा बिक्री मामले में कटिहार के एक शिक्षक को सस्पेंड किए जाने के विरोध में शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ काटा बवाल, निकाला प्रतिरोध मार्च

CHHAPRA : एमडीएम योजना में बोरा बिक्री मामले में कटिहार के एक शिक्षक को सस्पेंड किए जाने के विरोध में विभिन्न शिक्षक संगठनों के द्वारा नगर निगम से निकलकर म्यूनिसिपल चौक तक प्रतिरोध मार्च निकाला गया एवं प्रतिरोध मार्च के बाद आदेश की प्रति को जलायी गई। 

मालूम हो कि मध्याह्न भोजन योजना में प्रयुक्त अनाज का बोरा जो 2015 से अभी तकि विद्यालय में है उसे बेचकर सरकारी खाते में जमा करने का आदेश है। विदित हो कि 2015 से जमा अनाज का बोरा सुरक्षित रहेगा ? क्षतिग्रस्त बोरा को खरीदेगा कौंन? शिक्षको के लिये यैसा बाध्यकारी/मनमानी आदेश की अगर उक्त राशि जमा नही होगी तो उसे गबन मानी जायेगी ऐसी ही बाध्यकारी आदेश से कटिहार के एक प्रभारी द्वारा बोरा को बाजार में बेचने और अपनी मजबूरी को सोशल मीडिया में विवशता को प्रदर्शित किया है। 

जिसके बाद उस शिक्षक को विशेष सचिव शिक्षा निदेशक मध्यान्ह भोजन पटना द्वारा जिला शिक्षा पदाधिकारी कटिहार को प्रेषित कर दंडित करने का पत्र प्रेषित की गई है। जिससे बिहार प्रदेश के शिक्षक आक्रोशित है आज सारण जिला में शिक्षको ने उक्त पत्र को शिथिल करने की मांग के साथ उक्त पत्र को जलाकर विरोध की गई। साथ ही अगर उक्त पत्र शिथिल नहीं की जाती है तो प्रदेश स्तर पर आंदोलन शुरू की जाएगी|

     उक्त प्रतिरोध मार्च कार्यक्रम में रबिन्द्र कुमार सिंह, विश्वजीत सिंह चन्देल ,समरेंद्र बहादुर सिंह ,सुमन  कुमार राय अभय सिंह बिनीद राय संजय राय जितेंद्र चौधरी  राजन पासवान निजाम जी हवलदारदार मांझी  अशोक यादव अनिल दास सतेंद्रबकुमार मनोज ओझा  बिनायक यादव जितेंद्र राय अजय राय मंटू मिश्र उमेश राय रामशंकर  विकास कुमार सचितानंद राय नीरज सिंह जहरूद्दीन सहित सैकड़ो शिक्षक ने भाग लिए|।

Find Us on Facebook

Trending News