IPL 2021: फाइनल में इंट्री की जंग में ‘अनुभवी’ चेन्नई की रोमांचक जीत, बेहतरीन ओवर-ऑल प्रदर्शन से फैंस को दिया तोहफा

IPL 2021: फाइनल में इंट्री की जंग में ‘अनुभवी’ चेन्नई की रोमांचक जीत, बेहतरीन ओवर-ऑल प्रदर्शन से फैंस को दिया तोहफा

N4N DESK: आईपीएल 2021 अब आर-पार की लड़ाई बन चुका है। बचे हुए चुनिंदा मैचों के बीच अब फाइनल में पहुंचने की जंग तेज हो गई है। इसी कड़ी में चेन्नई की टीम ने ‘किंग्स’ स्टाइल परफॉर्मेंस देते हुए नौवीं बार आईपीएल के फाइनल में जगह बना ली है। इसी के साथ टीम ने साल 2020 के खराब प्रदर्शन का जवाब भी शांतिपूर्ण तरीके से दे दिया है। 

दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच फाइनल में इंट्री को लेकर खेले गए मैच में सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ (70) और रोबिन उथप्पा (63) के बीच दूसरे विकेट के लिए 110 रनों की शतकीय साझेदारी के बाद अंत के ओवरमें कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की शानदार मैच विनिंग पारी के दम पर टीम ने रोमांचक पहले क्वालीफायर मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स को चार विकेट से हराकर आईपीएल 2021 के फाइनल में प्रवेश कर लिया। इस हार के बाद भी दिल्ली के पास अभी फाइनल में पहुंचने का मौका है। दिल्ली को अब शारजाह में सोमवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेले जाने वाले एलिमिनेटर मुकाबले के विजेता से भिड़ना होगा और उस मैच की विजेता टीम चेन्नई के साथ 15 अक्टूबर को फाइनल खेलेगी।

दिल्ली ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 172 रन का स्कोर बनाया, जिसे चेन्नई ने दो गेंद शेष रहते छह विकेट खोकर हासिल कर लिया। दिल्ली से मिले 173 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स की शुरुआत खराब रही और टीम ने पहले ओवर में ही तीन रन के स्कोर पर फाफ डुप्लेसी (1) का विकेट गंवा दिया। उनके आउट होने के बाद रोबिन उथप्पा (63) और ऋतुराज गायकवाड़ (70) दूसरे विकेट के लिए 77 गेंदों पर 110 रनों की साझेदारी करके चेन्नई को जीत के करीब पहुंचाने की कोशिश की। उथप्पा ने आईपीएल में अपना 25वां अर्धशतक पूरा किया। वह टॉम करन के ओवर में सीमा रखा पर श्रेयस अय्यर के हाथों शानदार तरीके से लपके गए। उथप्पा ने 44 गेंदों पर सात चौके और दो छक्के लगाए।वहीं धोनी पहली बार आइपीएल प्लेआफ में सफलतापूर्वक रन चेज करते हुए नाबाद पवेलियन लौटे। उन्होंने 6 गेंदों पर एक छक्का व 3 चौकों की मदद से नाबाद 18 रन बनाए।

पिछले सीजन में सीएसके प्लेआफ तक भी नहीं पहुंच पाई थी, लेकिन इस बार धोनी की कप्तानी में टीम में जबरदस्त बदलाव देखने को मिला और शुरू से ही ये टीम हावी नजर आई। 14 लीग मुकाबले में इस टीम को 9 में जीत मिली तो वहीं 5 में हार भी मिली, लेकिन जब टीम को पहले क्वालीफायर में खेलने का मौका मिला तो कई भी गलती नहीं करते हुए इस टीम ने फाइनल में जगह बनाई। इस सीजन में सीएसके जिस तरह से खेल रही है वो टाइटल की सबसे बड़े दावेदार के तौर पर उभरी है।


Find Us on Facebook

Trending News