IPS लिपि सिंह पर पहले भी लगे हैं गंभीर आरोप, सांसद की गाड़ी से 'अनंत सिंह' को ले जाने पहुंच गई थी साकेत कोर्ट..

IPS लिपि सिंह पर पहले भी लगे हैं गंभीर आरोप, सांसद की गाड़ी से 'अनंत सिंह' को ले जाने पहुंच गई थी साकेत कोर्ट..

मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान हंगामा मामला अब तक शांत नहीं हो सका है। स्थानीय लोगों में पुलिस के खिलाफ भारी आक्रोश है। स्थानीय लोग वहां की एसपी लिपि सिंह पर तत्काल एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं। विवाद ने राजनीतिक रंग ले लिया है और विपक्ष ने भी पूरे मामले की जांच और वहां के एसपी-डीएम को हटाने की मांग कर दी है। तेजस्वी यादव ने सीधे-सीधे वहां की एसपी पर निशाना साधा है और जनरल डायर की संज्ञा दे दी।वैसे मुंगेर की एसपी लिपि सिंह का विवाद से चोली-दामन का रिश्ता है। लिपि सिंह बिहार की सत्ताधारी जेडीयू के नंबर दो नेता की बेटी हैं। लिहाजा विवाद के बाद भी सरकार आंख मुंदकर सोई रहती है। 2019 लोकसभा चुनाव के दरम्यान भी उन पर एक पक्ष के उम्मीदवार के लिए काम करने का आरोप लगा था। चुनाव आयोग से भी शिकायत की गई थी। आयोग के निर्देश पर उके कुछ दिनों के लिए बाढ़ अनुमंडल की एएसपी के पद से हटाया भी गया था। लेकिन जैसे ही चुनाव संपन्न हुआ फिर से उन्हें बाढ़ के एएसपी के पद पर बिठा दिया गया।

तब सांसद की गाड़ी से मुजरिम को कोर्ट से लाने गई थीं लिपि सिंह

बात 24 अगस्त 2019 की है,जब बाहुबली विधायक अनंत सिंह को ट्रांजिट रिमांड पर लेने बाढ़ की तत्कालीन एएसपी लिपि सिंह अपने सांसद पिता की गाड़ी से कोर्ट गई दिल्ली की एक अदालत पहुंच गई। वे जिस गाड़ी से कोर्ट पहुंची उस गाड़ी पर सांसद का स्टीकर लगा था।तब यह खबर आई थी कि उक्त गाड़ी का उपयोग उके पिता जो जेडीयू के सांसद हैं वे करते हैं,हालांकि वह गाड़ी जेडीयू के एक एमएलसी के नाम पर रजिस्टर्ड थी।  यह खबर सामने आने के बाद बवाल मच गया । लिपि सिंह के खिलाफ अनंत सिंह के वकील कोर्ट भी गए थे। तब राजद ने सीधे तौर पर राजनीतिक षडयंत्र के तहत अनंत सिंह को फंसाने का आरोप लगाया था।

बता दें,बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने साकेत कोर्ट में सरेंडर किया था। बिहार पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर अनंत सिंह को बिहार लाया गया। अनंत सिंह के घर में एके-47 मिलने के मामले में केस की आईओ एएसपी लिपि सिंह दिल्ली साकेत कोर्ट गई ती। 

अनंत सिंह के पटना जिले में बाढ़ के नदावां स्थित घर से ए के 47 रायफल, हैंड ग्रेनेड और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए थे. इसके बाद से उनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी किया गया था, लेकिन वे लगातार फरार चल रहे थे. बीते 16 अगस्त से पुलिस की पकड़ से बाहर रहे बाहुबली विधायक ने शुक्रवार को सरेंडर किया .

Find Us on Facebook

Trending News