दिल्ली के मशहूर होटल ग्रुप के ठिकानों पर छापा, 1000 करोड़ रुपये के काले धन का पता लगा

दिल्ली के मशहूर होटल ग्रुप के ठिकानों पर छापा, 1000 करोड़ रुपये के काले धन का पता लगा

ललित होटल चेन चलाने वाले भारत होटल्स समूह पर छापेमारी में आयकर विभाग को विदेशों में एक हजार करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित संपत्ति और भारी मात्रा में कालेधन का पता चला है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने शुक्रवार बयान मेंकहा कि समूह की विदेशी संपत्तियों में ब्रिटेन के होटल में निवेश, ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात में अचल संपत्तियां और विदेशी बैंकों में नकद जमा शामिल हैं।

विभाग ने छापेमारी के बाद जारी बयान में किसी का नाम नहीं लिया है, लेकिन आधिकारिक सूत्रों ने बतायाहै कि यह भारत होटल्स समूह का मामला है। समूह की चेयरपर्सन और प्रबंध निदेशक ज्योत्सना सूरी हैं। आईटी विभाग ने समूह की, सूरी और अन्य के दिल्ली और आसपास के 13 परिसरों पर 19 जनवरी को छापेमारी शुरू की थी।

उनके करीबी सहयोगी जयंत नंदा के ठिकानों पर भी इनकम टैक्स के छापे चल रहे हैं। न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, आयकर अधिकारियों ने बताया तलाशी रविवार को शुरू हुई। उन्होंने कहा कि भारत होटल्स की सीएमडी ज्योत्सना सूरी और कार्गो मोटर्स के प्रमोटरों से संबंधित आठ परिसरों की तलाशी ली गई थी।

जयंत नंदा कार्गो मोटर्स के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं, जो देश में टाटा मोटर्स के कमर्शियल वाहनों के सबसे बड़े डीलरहैं। ज्योत्सना सूरी ने साल 2006 में अपने पति ललित सूरी की मौत के बाद ललित होटलचेन की कमान संभाली है। अधिकारियों ने कहा कि विभाग ने हॉस्पिटैलिटी समूह द्वारा 35 करोड़ रुपये की घरेलू कर चोरी का पता लगाया है। इसमें ब्लैक मनी एक्ट, 2015 के तहत व आयकर अधिनियम, 1961 के तहत कार्रवाई हो सकती है।

शुक्रवार को जारी बयान में आईटी विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने 24.93 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है, जिसमें नकदी में 71.5 लाख रुपये, 23 करोड़ रुपये के गहने और 1.2 करोड़ रुपये की महंगी घड़ियां शामिल हैं। अधिकारी ने बताया कि यहकार्रवाई केंद्र सरकार के काले धन के खिलाफ मिशन के तहत की गई है, जिसमें खास तौर पर विदेशी संपत्ति शामिल है।


Find Us on Facebook

Trending News