केदारकांठा की ऊंची चोटी फतह करने पर जदयू नेता ने कहा- नालंदा की बेटी ने बिहार को किया गौरवांवित

केदारकांठा की ऊंची चोटी फतह करने पर जदयू नेता ने कहा- नालंदा की बेटी ने बिहार को किया गौरवांवित

डेस्क... नालंदा जिले के छोटे से गांव मेघी की अर्पणा ने केदारकांठा की साढ़े 12 हजार फीट ऊंची चोटी फतह कर बिहार का मान बढ़ाया है। अर्पणा के इस कीर्तिमान के बाद बधाई आम जनों के अलावा राजनीतक दलों के नेता भी बधाई देने का सिलसिला जारी रखे हुए हैं। इस कड़ी में जदयू के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने अर्पणा को बधाई देते हुए कहा कि अब बेटियों से बिहार गौरवान्वित हो रहा है। उन्होंने बिहार के नालंदा जिले के ग्राम मेघी की गोल्डमेडलिस्ट बेटी अर्पणा को उत्तराखंड के केदारकंठ की साढ़े बारह हजार फीट ऊंची चोटी को फतह करने पर बधाई व स्वर्णिम भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं। 

बता दें कि अर्पणा ने केदारकांठा की साढ़े 12 हजार फीट ऊंची चोटी पर फतह करने का कारनामा किया है। यह ट्रैक उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के गोविंद वन्यजीव अभयारण्य में स्थित है। इसकी ऊंचाई 3800 मीटर अर्थात 12500 फीट है। पूरा ट्रैक 20 किमी का है। कंपकंपाती ठंड में मंजिल को तय करना बेहद मुश्किल है। 

स्वजनों के अनुसार पिता के गुजरने के बाद मां गीता कुमारी ने उसे पढ़ाया लिखाया। खेलकूद में भी आगे बढ़ाया। अर्पणा कराटे में राष्टीय स्तर पर गोल्ड मेडल हासिल कर चुकी है। खो-खो में मगध यूनिवर्सिटी की चैंपियन रही है। मात्र 20 साल की उम्र में 50 से भी अधिक मेडल जीत चुकी है। 30 दिसंबर को अर्पणा ने केदारकांठा की 12500 फीट ऊंची बर्फीली चोटी पर भारत का तिरंगा लहरा दिया। अर्पणा ने कहा कि खेल में ही कॅरियर बनाएगी। राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी बनने का इरादा है। अब दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट की चढाई पूरी करनी है। 



Find Us on Facebook

Trending News