पर्यटकों के लिए खुला वाल्मिकी टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी, अब बिना पिंजरे के नजदीक से देख सकेंगे 50 से अधिक बाघ

पर्यटकों के लिए खुला वाल्मिकी टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी, अब बिना पिंजरे के नजदीक से देख सकेंगे 50 से अधिक बाघ

BETIA : बिहार का इकलौता प. चम्पारण बगहा पुलिस जिला स्थित वाल्मिकी टाइगर रिजर्व कल 1 नवंबर से जंगल सफारी शुरू हो गया। जिसके बाद अब असली जंगल सफारी का रोमांच पर्यटकों को मिल सकेगा। जिला प्रशासन को उम्मीद है कि जंगल सफारी के शुरू होने के बाद जहां दूर - दराज से चलकर पर्यटक वाल्मीकीनगर पहुचेंगे और एक साथ वाल्मीकि नगर के खुबसूरती से लेकर जंगल सफारी के दौरान छोटे बड़े हर तरह के जानवर का दीदार करीब से कर पाएंगे।

पर्यटकों के सुरक्षा के पूरे प्रबंध

 पर्यटकों के सुरक्षा के सवाल पर बगहा एसपी किरण कुमार गोरख जाधव ने बताया कि पर्यटकों के सुरक्षा के लिए बगहा पुलिस पूरी तरह कटिबद्ध है। वाल्मीकि टाईगर रिजर्व में जो भी पर्यटक आ रहे है उनकी सुरक्षा और उनको मदद पुलिस से भरपूर मिलेगी। आगे उन्होंने बताया कि 112 नंबर हाल ही में लॉन्च किया गया है।

 पर्यटक को किसी भी तरह की असुविधा हो रही है तो वे 112 नंबर पर कॉल करके उनका जोा परेशानी है उसे रख सकते है, तुरंत उनके पास पुलिस पहुंच जाएगी। वैसे वाल्मीकीनगर थाने को भी ब्रीफ कर दिया गया है पर्यटक को वहां से भी सुविधा प्राप्त होंगी।

बता दें कि बिहार के राजगीर में पहले से ही जंगल सफारी है, लेकिन उसे कृत्रिम रूप से बसाया गया है। साथ ही यहां जंगली जानवरों की संख्या भी बेहद सीमित है। जबकि वाल्मिकी टाइगर रिजर्व पूरी तरह से प्राकतिक है। यहां पर 50 की संख्या के करीब बाघ मौजूद हैं, साथ ही दूसरे जंगली जानवर भी अच्छी तादाद में हैं. जिन्हे नजदीक से देखने का अलग रोमांच होगा।



Find Us on Facebook

Trending News