काजोल को मिले न्याय : विवाहिता की हत्या, हत्या के विरोध में आक्रोशित लोगों ने निकाला कैंडल मार्च, पिता ने कहा नहीं मिला न्याय तो करेंगे समाहरणालय के पास आत्मदाह

काजोल को मिले न्याय : विवाहिता की हत्या, हत्या के विरोध में आक्रोशित लोगों ने निकाला कैंडल मार्च,  पिता ने कहा नहीं मिला न्याय तो करेंगे समाहरणालय के पास आत्मदाह

NAWADA : नवादा नगर थाना क्षेत्र के रामनगर स्थित संकट मोचन मंदिर के पास से काजोल को न्याय दिलाने को लेकर परिवार सहित तमाम लोगों ने मिलकर कैंडल मार्च निकाला, वहीं बेटी की मौत से दुखी पिता ने कहा कि अगर हत्यारों को पकड़ा नहीं गया तो वह समाहरणालय कार्यालय के बाहर आत्मदाह करेंगे। वहीं जिस तरह से दहेज लोभियों ने काजोल की हत्या की है, उसके बाद अब धीरे धीरे शहर के लोगों ने भी आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर अपनी आवाज उठानी शुरू कर दी है। 

बताते चलें कि जिले के रजौली थाना क्षेत्र के रजौली बाजार स्थित बभनटोली माेहल्ले में विवाहिता काजोल कुमारी की हत्या मामले में अबतक आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। जिससे मायके के स्वजनों में काफी नाराजगी है। मृतका के पिता नगर थाना क्षेत्र के रामनगर मोहल्ला निवासी देवेंद्र प्रसाद ने बताया कि 12 दिसंबर को प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। दर्ज प्राथमिकी में मृतका के पति धीरज कुमार, भैसुर नीरज कुमार, सास वीणा देवी और गोतनी ज्योति कुमारी को नामजद किया गया है। लेकिन रजौली थाना की पुलिस अबतक आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। 

उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 में बेटी काजोल की शादी धीरज के साथ हिंदू रीति रिवाज से हुई थी। शादी के वक्त 17 लाख रुपये नगद एवं तीन लाख रुपये का सामान दिया गया था। शादी के कुछ दिन बाद ही आठ लाख रुपये या फिर चार पहिया वाहन की मांग होने लगी। असमर्थता जताने पर बेटी को ससुराल में प्रताड़ित किया जाने लगा। मांग की पूर्ति नहीं होने पर बेटी को जलाकर मारने की कोशिश भी की गई। जिससे वह काफी झुलस गई थी। निजी क्लीनिक में इलाज कराना पड़ा था। 9 की रात बेटी के ससुराल से किसी ने फोन किया काजोल की तबीयत काफी बिगड़ गई है और उसे सूई दिलवाने गए हैं। स्थिति गंभीर होने पर बेटी को विम्स पावापुरी, में भर्ती कराया गया। फिर वहां से पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। लेकिन ससुरालवालों ने पीएमसीएच नहीं ले जाकर बिहार शरीफ में एक निजी अस्पताल में भर्ती करवा दिया। जहां उसकी मौत हो गई। उसकी मौत के बाद ससुराल के लोग फरार हो गए। 


उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बेटी को घसीट-घसीटकर मारा गया। फिर दहेजलोभियों ने जहर खिलाकर उसकी जीवन लीला समाप्त कर दी। घटना के बाबत 12 दिसंबर को प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। लेकिन आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

वहीं पुलिस पर भी इन लोगों ने सवाल उठाए हैं कि लगातार पुलिस से हम लोग मुलाकात कर रहे हैं। लेकिन वरीय अधिकारी से लेकर थानेदार तक हम लोगों की बात नहीं सुन रहे हैं। इसी को लेकर आज हम लोगों के द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया है। मृतक के पिता ने साफ तौर पर कहा है कि अगर हमारी बेटी को न्याय नहीं मिला तो मैं नवादा के समाहरणालय के पास अगला कदम मेरा आत्मदाह का ही होगा।

Find Us on Facebook

Trending News