कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन, कल मनाया था जन्मदिन

 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन, कल मनाया था जन्मदिन

कांग्रेस के दिग्गज नेता मोतीलाल वोरा का सोमवार को निधन हो गया। खराब सेहत की वजह से मोतीलाल वोरा को कल रात एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. लंबे समय तक कांग्रेस कोषाध्यक्ष रहे मोतीलाल वोरा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और उत्तरप्रदेश के राज्यपाल रह चुके हैं. मोती लाल वोरा ने एक दिन पहले ही अपना 93वां जन्मदिन मनाया था। वोरा का निधन के साथ ही कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। 

मोतीलाल वोरा गांधी परिवार के बेहद करीबी थे. साल 2018 में बढ़ती उम्र का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने मोतीलाल वोरा से कोषाध्याक्ष की जिम्मेदारी लेते हुए अहमद पटेल को दी थी. अहमद पटेल का भी पिछले दिनों निधन हो गया था. कांग्रेस के लिए यह किसी बड़े झटके से कम नहीं है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत कांग्रेस के अन्य नेताओं ने मोतीलाल वोरा के निधन पर दुख जताया है.

दो बार रहे मध्य प्रदेश के सीएम

मोती लाल वोरा दो बार कांग्रेस की तरफ से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। पहली बार वह  13 मार्च 1985 से 13 फरवरी 1988 तक तक मुख्यमंत्री रहे और दूसरी बार उन्होंने  25 जनवरी 1989 से 9 दिसंबर 1989 तक  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालू। 2000 से 2018 तक (18 साल) पार्टी के कोषाध्यक्ष भी रहे थे। वोरा ने कल (20 दिसंबर) ही अपना 93वां जन्मदिन भी मनाया था।

यह है वोरा राजनीतिक सफर 

1968 में समाजपार्टी के सदस्य रहे वोरा अविभाजित मध्यप्रदेश की दुर्ग म्यूनिसिपल कमेटी के सदस्य बने। 1970 में कांग्रेस में शामिल हुए। 1972 में कांग्रेस के टिकट पर विधायक बने। इसके बाद 1977 और 1980 में भी विधायक चुने गए। अर्जुन सिंह की कैबिनेट में पहले उच्च शिक्षा विभाग में राज्य मंत्री रहे। 1983 में कैबिनेट मंत्री बनाए गए। 1981-84 के दौरान वे मध्यप्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के चेयरमैन का भी रहे।

Find Us on Facebook

Trending News