कद्दू में छुपा था 1.5 करोड़ का गांजा, पुलिस ने पीछा कर पकड़ा

कद्दू में छुपा था 1.5 करोड़ का गांजा, पुलिस ने पीछा कर पकड़ा

Desk: मध्य प्रदेश की शहडोल पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए गांजे की एक बड़ी खेप पकड़ी है. गांजे की खेप को सब्ज़ियों के बीच छुपाकर ले जा जाया रहा था. गिरफ्तारी के डर से तस्कर बैरिकेड तोड़कर भाग निकले. पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर करीब 200 किलोमीटर तक उनका पीछा किया और सभी आरोपियों को गांजे की खेप के साथ गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के मुताबिक, ओडिशा से चलकर मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में गांजा सप्लाई करने वाली इस चैन के तार कई नामचीन लोगों से जुड़े होनी की संभावना है. ओडिशा के नक्सल प्रभावित जिलों के जंगलों में बड़ी मात्रा में गांजे की खेती की जाती है. इस गांजे की खेप को बड़ी चतुराई से तस्कर मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में अपने मजबूत नेटवर्क के जरिये पहुंचाते हैं. 

शहडोल पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल को ऐसी ही एक गांजे की खेप शहडोल से निकलने की सूचना मिली. सत्येंद्र कुमार शुक्ल का कहना है कि गांजे की ये खेप इस बार सब्ज़ियों के बीच छुपाकर ले जाई जा रही थी. पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद गाड़ी को पकड़ा. जब पुलिस ने जांच की तो कद्दू और लौकी में छुपाकर 10 क्विंटल गांजे की तस्करी की जा रहा था. इस गांजे की कीमत करीब डेढ़ करोड़ है.पुलिस के मुताबिक, गांजे से भरी गाड़ी को दो लग्ज़री कार में सवार आरोपी फॉलो कर रहे थे ताकि स्थिति का पहले से अंदाजा लगा सकें. लेकिन जैसे ही उन्हें पुलिस कार्रवाई की भनक लगी तो तस्कर बैरिकेड तोड़कर भाग निकले.

इसके बाद पुलिस ने आरोपियों का 200 किलोमीटर तक पीछा किया और सतना जिले में आखिरकार इन्हें गिरफ्तार कर लिया. आरोपियों के पास साढ़े तीन लाख कैश भी बरामद हुआ. पुलिस के मुताबिक, तस्करों के इस गिरोह के हत्थे चढ़ने के बाद अब उम्मीद की जा सकती है कि ओडिशा से निकलकर छत्तीसगढ़ होते हुए मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में पहुंचने वाले गांजे की तस्करी में कमी आएगी.


Find Us on Facebook

Trending News