किसान आंदोलन : संगठनों ने कहा, अब तक हम पीएम मोदी की मन की बात सुनते आए हैं, अब वे हमारे मन की बात सुनें

किसान आंदोलन : संगठनों ने कहा, अब तक हम पीएम मोदी की मन की बात सुनते आए हैं, अब वे हमारे मन की बात सुनें

डेस्क... कृषि कानून के खिलाफ देश के किसान अब आर-पार की लड़ाई की मूड में हैं। किसान संगठनों ने एक बार फिर से सरकार को अल्टीर्मटम दिया है कि जब तक तीनों नए कृषि कानून वापस नहीं होगा उनका आंदोलन खत्म नहीं होगा और 8 दिसंबर को उनका भारत बंद भी होकर रहेगा। 

दिल्ली के सिंधु बॉर्डर से किसान संगठनों ने सरकार को बड़ा और कड़ा संदेश दिया है। किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को देश भर में बंदी और 9 दिसंबर को छठे राउंड की बातचीत को लेकर बड़ा ऐलान किया। इन संगठनों ने किसानों से दिल्ली कूच करने की अपील की है, तो 9 दिसंबर को जब किसान संगठन छठे राउंड की मीटिंग के लिए सरकार के साथ टेबल पर होंगे तो क्या होगा, ये ऐलान भी किसान संगठनों ने कर दिया है।


पीएम मोदी सुनें किसानों के मन की बात

किसानों ने कहा कि वे अपनी मांगों से समझौता करने वाले नहीं हैं. किसानों ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'मन की बात' सुनते रहे हैं. अब पीएम मोदी को किसानों के मन की बात सुननी चाहिए. किसान नेता जगमोहन ने कहा कि किसान नेताओं के बीच विचार-विमर्श के बाद तय हुआ है कि हम अपनी मांगों से कोई समझौता नहीं करेंगे. मोदी के मन की बात हम सुन रहे हैं, अब उनको हमारे मन की बात सुननी 

Find Us on Facebook

Trending News