किशोरी ने मुख्यमंत्री के सामने जताई पढ़ने की इच्छा, 48 घंटे में ही बदल गई उसके परिवार की स्थिति

किशोरी ने मुख्यमंत्री के सामने जताई पढ़ने की इच्छा, 48 घंटे में ही बदल गई उसके परिवार की स्थिति

DESK : मुख्यमंत्री के सामने अपनी रखने किसी की जिंदगी कैसे बदल सकती है। यह बात झारखंड के गढ़वा की रहनेवाली बेबी कुमारी को देखकर समझा जा सकता है। बेबी कुमारी ने लोक संवाद कार्यक्रम में सीएम हेमंत सोरेन के सामने अपनी पढ़ाई की इच्छा जाहिर की। साथ ही मुख्यमंत्री से इसको लेकर मदद करने की मांग की। इस कार्यक्रम के 48 घंटे के बाद न सिर्फ बेबी कुमारी, बल्कि उसके परिवार की जिंदगी बदल गई। किशोरी के परिवार को कई सरकारी योजनाओं का लाभ दे दिया गया। वहीं सीएम ने भी ट्वीट कर लिखा है- आप खूब पढ़ो, आगे बढ़ो बहन। आपका भाई आपके साथ है।

गढ़वा के तिलदाग पंचायत में लोक संवाद कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री से बेबी कुमारी ने कहा था कि वो पढ़ना चाहती है। सीएम उसकी मदद करें. इसके बाद मुख्यमंत्री ने उपायुक्त गढ़वा को बेबी और उसके पूरे परिवार को सरकार की विभिन्न योजनाओं से जोड़ने का निर्देश दिया था। मुख्यमंत्री के निर्देश के 48 घंटे के अंदर पूरे परिवार को विभिन्न योजनाओं से जोड़ दिया गया।

बेबी कुमारी को सावित्री बाई फुले किशोरी समृद्धि योजना और उसकी बहनों को कल्याण विभाग की छात्रवृत्ति, मां ललिता देवी को बकरी पालन के लिए मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना से जोड़ा गया है।

पिता को रोजगार के लिए मिले पांच लाख

बेबी के पिता इंद्रेश राम को मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत 5 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। इसके अलावा बेबी कुमारी की बहन रिमझिम का नामांकन कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में कराया गया है। मनरेगा से 1.30 लाख की लागत का पशु शेड भी स्वीकृत किया गया है।

सरकार से मदद मिलने के बाद बेबी कुमारी ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री से परसों यानी शुक्रवार को पढ़ने के लिए मदद की गुहार लगाई थी। इसके बाद कुछ घंटों में ही सरकार की कई योजनाओं का लाभ मिल गया है।


बेबी ने कहा कि मां और पिताजी को भी स्वरोजगार से जोड़ा गया है. बेबी की बहनों का पढ़ने का सपना भी पूरा होगा। बेबी खुद पढ़ाई कर टीचर बनना चाहती हैं. बेबी ने योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए आभार जताया है।

Find Us on Facebook

Trending News