जानिए पटना के निर्भय सिंह हत्याकांड के बारे में, हत्यारा अमित को कैसे देवघर में ठोक दिया गया

जानिए पटना के निर्भय सिंह हत्याकांड के बारे में, हत्यारा अमित को कैसे देवघर में ठोक दिया गया

पटना. 15 सितंबर 2017 को पटना के बिहटा में व्यवसायी संघ के अध्यक्ष और सिनेमा हॉल के मालिक निर्भय सिंह की हत्या के मामले दोषी अमित कुमार उर्फ़ निशांत की शनिवार को देवघर के कोर्ट में गोली मारकर हत्या कर दी गई. अमित कुमार उर्फ निशांत महाकाल बाइकर्स गैंग का सरगना था. अमित की हत्या के बाद बिहटा के व्यापारियों में बड़े खौफ का अंत हो गया है. अमित का गिरोह व्यापारियों से रंगदारी और उन्हें प्रताड़ित करता था. निर्भय सिंह से भी अमित ने रंगदारी मांगी थी. उन्होंने उसका विरोध किया था जिसके बाद अमित ने निर्भय की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी. 

निर्भय सिंह हत्याकांड के बाद बिहटा के व्यापारियों में भय बन गया था. कई लोगों ने इस हत्याकांड के बाद अमित के खौफ से अपनी व्यापारिक गतिविधियों को समेटना तक शुरू कर दिया था. वहीं निर्भय सिंह की मौत के बाद व्यापारिक वर्ग में काफी रोष देखने को मिला था. हालांकि पुलिस ने तेजी से कार्रवाई करते हुए हमलावरों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई. 

अमित और उसके गिरोह के अन्य लोगों शंकर कुमार चौधरी, विशाल राम उर्फ रिक्की और पंकज कुमार सहित पांच को इसी साल कोर्ट ने अप्रैल 2022 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. और अब अमित की देवघर कोर्ट में हत्या कर दी गई. 

मृतक कैदी अमित कुमार सिंह को पटना के बिहटा सदीसोपुर का रहने वाला था. उसे बिहार पुलिस की एक टीम शनिवार को देवघर कोर्ट में पेशी के लिए लाई थी. पेशी के बाद अधिवक्ता के चेंबर में जब उसे ले जाया गया उसी दौरान उसे गोली मारी गई. अमित पर देवघर में वर्ष 2012 में एक अपहरण का मामला दर्ज था. उसी मामले में उसे पेशी के लिए लाया गया था जब हमलवारों ने उसे गोलियों से छलनी कर दिया. 

देवघर एसपी सुभाष चंद्र जाट, संथाल परगना डीआईजी सुदर्शन मंडल और तमाम पुलिस पदाधिकारी पहुंचे और जांच शुरू कर दी. प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि कैदी कोर्ट परिसर में एक अधिवक्ता से मिलने के लिए उनके चेंबर में गया था. तभी दो व्यक्ति आए जिन्होंने अपने हाथ में पिस्टल ले रखी थी और एक के बाद एक तीन  गोली अमित के शरीर पर उतार दी. फिलहाल देवघर पुलिस बिहार के 5 पुलिसकर्मियों से पूछताछ कर रही है.

घटना के बाद देवघर कोर्ट परिसर में अफरातफरी मच गई. गोली की आवाज सुनने के बाद कुछ समय तक लोग इधर उधर भागते रहे. वहीं पुलिस किसी भी हमलावर को पकड़ने में असफल रही. हमलावर अमित को गोली मारकर फरार हो गए.


Find Us on Facebook

Trending News