विजय सिन्हा के आरोपों पर लखीसराय एसपी का आ गया जवाब, एक एक आरोप का सबूतों के साथ दिया जवाब, अब क्या कहेंगे नेता प्रतिपक्ष

विजय सिन्हा के आरोपों पर लखीसराय एसपी का आ गया जवाब, एक एक आरोप का सबूतों के साथ दिया जवाब, अब क्या कहेंगे नेता प्रतिपक्ष

लखीसराय. नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा द्वारा लखीसराय के एसपी पंकज कुमार पर लगाए गए कथित आरोपों पर शुक्रवार को पंकज कुमार ने सफाई दी. उन्होंने कहा की विजय सिन्हा का यह कहना कि वे सिन्हा का फोन नहीं उठाते पूरी तरह बेबुनियाद है. पंकज कुमार ने कहा कि विजय सिन्हा पूर्व में जिस नंबर से फोन किया करते थे वह लगातार उस नंबर को रिसीव करते रहे हैं. लखीसराय में एसपी का पदभार संभाले उन्हें 4 महीने हुए हैं और सिन्हा ने अंतिम बार एसपी को 12 सितंबर को फोन किया था. उन्होंने कहा कि 12 सितम्बर को उनसे बात हुई थी, उसके बाद अगले 3-4 दिनों में उनका कोई फोन नहीं आया. इसलिए फोन नहीं उठाने के आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है. 

उन्होंने कहा कि विजय सिन्हा की ओर से कहा गया कि एसपी का फोन बंद रहता है. ऐसे में मेरे 4 महीने लखीसराय पदस्थापन  अवधि के कॉल डिटेल निकले जाएं. कभी भी फोन बंद नहीं रहा है. उन्होंने दावा किया कि विजय सिन्हा पूरी तरह से बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. लखीसराय की पुलिस पर थाने की गाड़ी बाईपास में खड़ी कर वसूली करने के आरोपों को भी एसपी ने गलत करार दिया. 

उन्होंने कहा कि हमारे पास 112 की चार पुलिस गाडियां हैं. ये गाडियां रोड पर नियत स्थान पर ही खड़ी रहती हैं. अगर कोई शिकायत मिलती है तो 112 गाड़ियां वहां जाती हैं और कार्रवाई उपरांत पुनः नियत स्थान पर सड़क पर लगी रहती हैं. यह 112 गाड़ियों से जुड़ा नियम ही है. इसलिए बाईपास पर गाड़ी खड़ी कर वसूली करने का आरोप कहीं से उचित नहीं है. 

इसी तरह विजय सिन्हा ने थानाध्यक्षों की पोस्टिंग में अनियमितता बरतने का आरोप लगाया है. उनका आरोप है कि अच्छे पदाधिकारियों को पुलिस लाइन में पोस्ट किया जा रहा है जबकि जिले में जितने भी थानाध्यक्ष हैं वे एक जिला में 3 वर्ष से थानाध्यक्ष हैं. एसपी पंकज कुमार ने कहा कि केवल उनका जगह बदला गया है न कि उनका लाइन क्लोज किया गया है. केवल पीरी बाजार थाना अध्यक्ष को उनके ही आग्रह पर पुलिस लाइन में किया गया है. बाकी सभी पदाधिकारी वही है जो पूर्व से थे.  


Find Us on Facebook

Trending News