मांझी से डर गए लालू! पू्र्व सीएम बोले - हमसे डरकर मुसहर को उपचुनाव में बनाया प्रत्याशी, यह डर अच्छा है...

मांझी से डर गए लालू! पू्र्व सीएम बोले - हमसे डरकर मुसहर को उपचुनाव में बनाया प्रत्याशी, यह डर अच्छा है...

PATNA : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी से डर गए हैं, यही कारण है कि उन्होंने बिहार में दो सीटों पर होनेवाले उप चुनाव में एक जगह से एक मुसहर जाति के व्यक्ति को अपना उम्मीदवार बनाया है।

दरअसल, लालू प्रसाद पर जीतन राम मांझी के खौफ की बात खुद बिहार के पूर्व सीएम ने की है। उन्होंने इसके पीछे एक कहानी भी बताई है, जिसमें कभी लालू प्रसाद ने यह कहा था कि एक मुसहर कभी कुर्सी पर नहीं बैठ सकता है। आज मुसहर जाति की स्थिति ऐसी हो गई है कि लालू प्रसाद भी एक मुसहर को अपना प्रत्याशी बनाने के लिए मजबूर हो गए हैं। मांझी ने इसे मुसहर जाति का डर बताया है।


नहीं दिया था सम्मान

जीतन राम मांझी ने मुसहर जाति  को लेकर लालू प्रसाद की सोच कैसी थी, उसको लेकर एक घटना का जिक्र किया है। मांझी ने बताया कि उस समय वह बिहार के अघोषित मुख्यमंत्री (संभवत 2004 के आसपास का जिक्र) थे, तब मैंने माउंटेनमैन दशरथ मांझी को सम्मान दिलाने के लिए कई बार आपसे अनुरोध किया। लेकिन आपने ध्यान नहीं दिया। आखिरकार वह बात कह दी कि मुसहर कुर्सी पर नहीं बैठते हैं। 

लालू प्रसाद की वह बातें मांझी जी की अब तक चुभती रही है, जो आज उभरकर सामने आ गई। इन सालों में मांझी ने अपने और मुसहर जाति को इस सम्मान के लायक बना दिया कि अब वही लालू प्रसाद उनके कद के आगे झुक गए हैं। कभी कुर्सी पर जगह नहीं देने की बात करनेवाले लालू प्रसाद आज एक मुसहर के भरोसे अपनी राजनीति को आगे बढ़ा रहे हैं। यह मुसहरों को लेकर लालू का डर है और यह डर बना रहना चाहिए।

बता दें कि राजद ने कुशेश्वर स्थान से होनेवाले उपचुनाव के लिए मुसहर जाति के गणेश भारती को अपना उम्मीदवार बनाया है।


Find Us on Facebook

Trending News