नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने नीतीश सरकार पर किया हमला, खनन माफियाओं को संरक्षण देने का लगाया आरोप

नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने नीतीश सरकार पर किया हमला, खनन माफियाओं को संरक्षण देने का लगाया आरोप

PATNA : बिहार विधानमंडल दल के नेता व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बिहार में लगातार हो रहे अवैध खनन पर सरकार को घेरते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा बिहार सरकार के खनन विभाग के मंत्री का खनन माफियाओं के मनमानी रोकने में पूरी तरह से विफल हैं। बिहार राज्य के खान और भूतत्व विभाग द्वारा दिये गये आँकड़े के मुताबिक़ साल 2022-23 में राज्य में बालू के अवैध कारोबार के संबंध में 4435 एफ़आइआर दर्ज हुए हैं। लेकिन, हक़ीक़त यह है कि इन सरकारी आँकड़ों से कई गुणा ज़्यादा लोग इस अवैध खनन व्यवसाय में संलिप्त हैं।

सिन्हा ने कहा कि बिहार में खनन माफियाओं द्वारा की जा रही मनमानी और उनकी बेख़ौफ़ मंसूबे से प्रदेश में अपराध के ग्राफ़ में बेतहाशा वृद्धि हुई है। पिछले तीन महीनों में ही लगभग दर्जन भर से ज़्यादा लोगों की हत्या खनन और भू माफियाफों की संलिप्तता से हुई है। ताज़ा घटना में जमुई में माफियाओं द्वारा एसआई प्रभात रंजन को ट्रैक्टर से कुचल दिया गया। कुछ महीने पहले ही पटना से सटे बिहटा थाना के परेव में खनन विभाग की महिला इंस्पेक्टर को बालू माफियाओं ने खदेड़-खदेड़ कर पीटा। जिसमें वो बुरी तरह घायल हो गई। पटना से सटे बिक्रम में व्यवसायी देवराज यादव को गोली मार दिया गया। ऐसा कोई दिन नहीं है जब प्रदेश के अलग-अलग जिलों में बालू माफियाओं द्वारा आपराधिक घटनाओं को अंजाम नहीं दिया जा रहा है।

सिन्हा ने कहा कि नियम को ताक पर रखकर दिन में प्रशासन का पहरा और रात में अवैध खनन का दोहरा खेल, खेला जाता है। इस दौरान शासन और प्रशासन मूक दर्शक की तरह व्यवहार कर रहे हैं। साथ ही माफियाओं का मनोबल बढ़ता चला जा रहा है। सिन्हा ने कहा कि सरकार द्वारा समय-समय पर बयान और आँकड़े जारी कर अपनी सक्रियता का झूठा प्रमाण पेश कर दिया जाता है। लेकिन सच्चाई यह है कि उनकी सख़्ती केवल कागजों और मीडिया में बयानों तक ही सिमट कर रह जाती है। बीच-बीच में ख़ानापूर्ति के लिए कुछ लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाता है और फिर बाद में छोड़ दिया जाता है। सच्चाई यह है कि अवैध खनन से होने वाले गाढ़ी कमाई का बड़ा हिस्सा शासन और प्रशासन के आला अधिकारियों के जेब में जाता है। जिसपर सरकार रोक लगाने में पूरी तरह से विफल है। 

सिन्हा ने यह भी कहा कि जब से बिहार में महागठबंधन की सरकार आई है और जंगलराज को जनता राज बोलकर मुख्यमंत्री एवं उप मुख्यमंत्री वाहवाही लूटने में लगे हैं। असल में वो गुंडाराज है। इतना ही नहीं सिन्हा ने संदेह जताते हुए कहा कि खनन माफियाओं के लिस्ट में ऐसे बहुत सारे लोग हैं। जिनका प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से महागठबंधन के साथ संपर्क है। इसी संरक्षण में वो अवैध रुप से खनन करते हैं तथा आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने की हिम्मत जुटा पाते हैं। सिन्हा ने माँग की है कि बिहार में सरकार और यहाँ के प्रशासन अवैध खनन व खनन माफियाओं के खिलाफ अपनी तथाकथित भ्रष्टाचार की ज़ीरो टॉलरेंस नीति पर गंभीर होकर राज्य में फैली अराजकता को समाप्त करें तथा इस व्यवसाय में अवैध रुप से सक्रिय लोगों पर शिकंजा कसे। साथ ही इस क्षेत्र में हो रहे अपराधों का ख़ात्मा सुनिश्चित करे।

Find Us on Facebook

Trending News