लोजपा चिराग गुट ने लगाया आरोप, सीएम नीतीश के इशारे पर बाधा उत्पन्न कर रहे हैं पशुपति पारस

लोजपा चिराग गुट ने लगाया आरोप, सीएम नीतीश के इशारे पर बाधा उत्पन्न कर रहे हैं पशुपति पारस

NEW DELHI : लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रवक्ता डॉ.अजय कुमार पाण्डेय ने आज कहा की पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व वाला गुट लोक जनशक्ति पार्टी के मामले में चुनाव चिन्ह और नाम विवाद मामले में चुनाव आयोग के आदेश का पालन करने में विफल रहा। वे समय सीमा का पालन करने में विफल रहे और आयोग द्वारा निर्देशित तीन के बजाय केवल एक नाम आयोग को प्रस्तुत कर सके। नाम के चिराग पासवान के दावे के समान होने का पहला दावा चुनाव आयोग द्वारा खारिज कर दिया गया है। 

आयोग ने पारस ग्रुप के लिए कल सुबह 10.00 बजे तक समय सीमा बढ़ा दी है और उनसे दो और नाम जमा करने को कहा है। चुनाव आयोग के पूर्व के आदेश के अनुसार, नए नाम और प्रतीकों को जमा करने की समय सीमा आज 13.00 बजे समाप्त हो गई। उन्होंने कहा की चुनाव चिह्नों के आवंटन पर चुनाव आयोग खामोश है। चिराग ने आज समय से पहले दोनों के लिए, तीन विकल्प नए नाम और प्रतीक भेजे हैं। 

चिराग ने आयोग से बिना किसी देरी के इस मामले पर फैसला करने का आग्रह किया है, क्योंकि बिहार में दो विधानसभा चुनावों के लिए उपचुनाव होने वाले हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पारस, नीतीश कुमार के इशारे पर उपचुनाव विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन भरने में देरी करने और नामांकन भरने में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। उन्होंने उपचुनाव से पहले अनावश्यक रूप से विवाद खड़ा कर दिया, भले ही वे मैदान में न हों।

नई दिल्ली से धीरज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News