पुनौराधाम में महावीर मंदिर न्यास बनाएगा जानकी जन्म स्थान मंदिर, प्रख्यात वास्तुविद् पीयूष सोमपुरा ने तैयार किया डिजाइन

पुनौराधाम में महावीर मंदिर न्यास बनाएगा जानकी जन्म स्थान मंदिर, प्रख्यात वास्तुविद् पीयूष सोमपुरा ने तैयार किया डिजाइन

पटना. जनकसुता माता जानकी के प्राकट्य स्थान सीतामढ़ी के पुनौराधाम में महावीर मन्दिर न्यास द्वारा भव्य जानकी जन्मस्थान मन्दिर का निर्माण कराया जाएगा। पुनौराधाम में स्थित माता सीता के उद्भव स्थान सीताकुंड में मन्दिर निर्माण के लिए प्रख्यात वास्तुविद पीयूष सोमपुरा ने आकर्षक डिजाइन तैयार किया है। सोमनाथ मन्दिर समेत देश-विदेश में कई प्रसिद्ध मन्दिरों का वास्तुशिल्प तैयार करनेवाले सोमपुरा परिवार के पीयूष सोमपुरा ने महावीर मन्दिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल के समक्ष थ्री डी व्यू वाली आकर्षक डिजाइन की प्रस्तुति दी है। 

आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि मार्च में पारित महावीर मन्दिर न्यास के बजट में जानकी जन्मस्थान मन्दिर के निर्माण के लिए भी प्रावधान किया गया है। बिहार राज्य धार्मिक न्यास बोर्ड को भी बजट समर्पित किया गया है। बिहार सरकार और देश के कई गणमान्य लोगों को इसकी जानकारी दी गई है। आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि माता जानकी के चरित्र को संसार में सबसे पवित्र और अद्वितीय माना गया है। स्वामी विवेकानन्द ने भी माता जानकी की महिमा पर प्रकाश डाला है। भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या में एक ओर जहां भव्य राम मन्दिर का निर्माण हो रहा है, वहीं माता जानकी की प्राकट्य भूमि पुनौराधाम में जानकी जन्मस्थान मन्दिर का निर्माण नितांत आवश्यक है। 

आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि अगले महीने पुनौराधाम में जानकी जन्मस्थान मन्दिर के निर्माण के शुरूआती कार्य प्रारंभ हो जाएंगे। जानकी जन्मस्थान मन्दिर के निर्माण का कार्य दो वर्षों में पूरा होगा। आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि महावीर मन्दिर की सबसे बड़ी परियोजना पूर्वी चंपारण जिले के केसरिया के निकट कैथवलिया में विराट रामायण मन्दिर और जानकी जन्मस्थान मन्दिर दोनों का निर्माण कार्य साथ-साथ चलेगा।

Find Us on Facebook

Trending News