भीषण गर्मी में बाधित पेयजल आपूर्ति से जूझ रहे सूर्यगढ़ा के कई इलाके, विधायक प्रहलाद यादव ने अधिकारियों संग की बैठक

भीषण गर्मी में बाधित पेयजल आपूर्ति से जूझ रहे सूर्यगढ़ा के कई इलाके, विधायक प्रहलाद यादव ने अधिकारियों संग की बैठक

Lakhisarai: पेयजल संकट वाले क्षेत्रों के लिए जलापूर्ति योजना सुनिश्चित कराने को लेकर मंगलवार को जल जीवन हरियाली योजना पर बैठक की गयी। सूर्यगढ़ा के विधायक प्रहलाद यादव की उपस्थिति में सहायक अभियंता पीएचईडी को बुधौली बंकर क्षेत्र में महीनों से बाधित जलापूर्ति योजना को रणनीति के साथ त्वरित गति से पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। रेलवे से एनओसी प्राप्त करने से पूर्व सारी तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। 

सहायक अभियंता ने बताया कि वाटर संप और ओवर हेड टंकी का निर्माण अंतिम चरण में है। जिला पदाधिकारी ने सूर्यगढ़ा प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि पीएचईडी द्वारा अब तक किये गये कार्यो का सत्यापन करे। पाइप बिछाने एवं घर तक कनेक्शन करने के कार्य का भी सत्यापन करे। अभियंता ने बताया कि पीएचईडी द्वारा 48 पंचायतों के 546 वार्ड जलापूर्ति करना है। बुधौली बंकर क्षेत्र के 22 वार्ड अभी भी जलापूर्ति योजना से वंचित है। जिला पदाधिकारी ने कहा कि अपने कनीय अभियंता और तकनीकी टीम द्वारा पुनः सर्वे कर ले कि कोई घर न छूटे। 

हालांकि प्रलाद यादव द्वारा कई टोलों एवं पंचायतों का नाम बताया गया जहां जलापूर्ति योजना बाधित है। विशेषकर पहाड़ी क्षेत्रों में जलापूर्ति की समस्या है. इसके अतिरिक्त बाल गुदर पंचायत के वार्ड नम्बर 05 में मोटर एवं बोरिंग करने के बाद स्टैजिंग एवं पाईप कनेक्शन का नहीं किया गया है। जिला पदाधिकारी ने इस संज्ञान लेते हुए कहा कि संवेदक को अविलंब कार्य कराये अन्यथा उन्हें कार्य मुक्त करते हुए पुनः किसी और से कार्य कराये। नये जल स्रोत निर्माण एवं पुराने जल स्रोत का जीर्णोद्धार एवं अतिक्रमित जल निकायों को अतिक्रमण मुक्त करने कार्रवाई करे। कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई की अनुपस्थिति पर उससे स्पष्टीकरण मांगा गया. 

उन्होंने कहा कि जागरूकता इस अभियान का मुख्य हिस्सा है। जल संचयन के साथ साथ जल के अपव्यय को रोकना अनिवार्य है। स्कूलों में बच्चों के माध्यम से जागरूकता का प्रचार करें। वहीं  विधायक ने कहा कि वार्ड स्तर पर भी इसकी बैठक कर लोगों को जागरूक किया जाय। जल छाजन योजना के संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि 10 योजना अबतक पूर्ण है। जल छाजन के अन्तर्गत तालाब, वाटर शेड निर्माण एवं पौधारोपण कर भूमिगत जल स्तर को बढ़ाया जाता है। बैठक में उप विकास आयुक्त, जिला पंचायती राज पदाधिकारी उपस्थित थे।


Find Us on Facebook

Trending News