मोतिहारी में डॉक्टर की कुर्सी पर कुत्ता बैठने मामले पर चिकित्सा पदाधिकारी ने दी सफाई, कहा जांच के बाद होगी कार्रवाई

मोतिहारी में डॉक्टर की कुर्सी पर कुत्ता बैठने मामले पर चिकित्सा पदाधिकारी ने दी सफाई, कहा जांच के बाद होगी कार्रवाई

MOTIHARI : अपर मुख्य सहायक चिकित्साधिकारी डॉक्टर पीके सिन्हा ने शनिवार को सुगौली सीएचसी के ओपीडी के टेबल पर कुत्ता बैठने की वायरल वीडियो की जांच किया. इस दौरान उन्हें बताया गया की एक दिन के लिए बारिश होने के कारण ओपीडी का अन्यत्र संचालन किया गया था. जो हास्यप्रद है. इस दौरान उन्होंने बताया कि ओपीडी में कुत्तों का घूमना और बैठना एक गंभीर मामला है. जांच किया जा रहा है कि चिकित्सक ड्यूटी पर थे या नही. मामले में मरीजो से भी पूछताछ कि जाएगी. इससे इतर मरीजो ने बताया कि ओपीडी का संचालन ओपीडी वायरल वीडियो को छोड़ अन्यत्र कहीं संचालित नही किया गया था. 


ज्ञात हो कि सीएचसी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था. जिसमे ओपीडी टेबल पर मरीजों की जगह कुत्ते सोते हुए देखे जा रहे है. जबकि वायरल वीडियो में चिकित्सकों कि कुर्सी खाली है. वही वायरल वीडियो के बाद जिम्मेदारो के द्वारा मामले को रफा दफा करने के लिए देर रात तक मैनेज करने का प्रयास किया गया था. बता दे कि सिएचसी में अनियमितता कि यह कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले भी प्रसूता महिलाओं के परिजनों से उगाही का कई वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था. 

वीडियो वायरल होने के बाद कोई कारगर कदम नही उठाया गया था. यहां प्रतिदिन इन्डोर एवं ओपीडी मिलाकर तकरीबन दौ सौ से उपर मरीजों का इलाज होता है. लेकिन, लापरवाही के कारण आम मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. एक ओर सरकार व स्वाथ्य विभाग सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को व्यवस्था देने का दवा करती है. पर सीएचसी कि हकीकत कुछ और ही निकल कर सामने आती है. अस्पताल से आई यह वीडियो बेहत चिंताजनक और परेशान करने वाली भी है. जिसने स्वास्थ्य व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर दिया है. 

वही जांच अधिकारी ने बताया कि ओपीडी  व इमरजेंसी रजिस्टर में अंकित मरीजों का नाम व पता नोट किया गया है. मरीजों से भी वाइरल वीडियो के दिन का ओपीडी की स्थिति की जनकारी ली जाएगी. वही दोषी के विरुद्ध कड़ी करवाई की जाएगी. वही मरीज की माने तो अस्पताल में पोस्टेड डाक्टर शहर में दो से तीन जगहों पर प्राइवेट क्लिनिक खोल कर रखे है. जिसके कारण अस्पताल में मरीजों के देखने मे कम ही समय दिया जाता है. ओपीडी में दिखाने आये मरीजों को दलालों द्वारा डाक्टर के प्राइवेट क्लिनिक पर दिखाने के लिए फसाया जाता है. वही ओपीडी में कुछ डाक्टर द्वारा प्राइवेट पुर्जा पर मरीज देखने की चर्चा जोड़ो पर है. वही अस्पताल प्रबंधन द्वारा जांच में बताया गया कि अस्पताल का दूसरा का गेट खुल्ला होने व बारिश का पानी कैम्पस में लगने के कारण ओपीडी दूसरे कक्ष में चलाने के कारण ओपीडी टेबल पर कुत्ता बैठ गया था.

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट  

Find Us on Facebook

Trending News